लखनऊ, जागरण संवाददाता। हजरतगंज स्थित भाजपा (BJP) प्रदेश कार्यालय के गेट नंबर दो पर खुद को आग लगाकर शुक्रवार रात अधेड़ बलराम तिवारी अंदर घुस गए। बलराम को आग की लपटों से घिरा देख पुलिस कर्मियों ने आनन फानन आग पर काबू पाया और उन्हें सिविल अस्पताल लेकर पहुंचे। घटना के समय भाजपा कार्यालय में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) के शहर आगमन को लेकर तैयारी चल रही थी। बलराम ने मकान मालिक पर प्रताड़ना और ठाकुरगंज पुलिस पर सुनवाई न करने का आरोप लगाया है।

बलराम की पत्नी सोनिया के मुताबिक वह ठाकुरगंज आम्रपाली योजना में मनीष पाल के यहां किराए पर रहती हैं। पति की छह माह पूर्व नौकरी छूट गई थी। वह किराए के नौ हजार रुपये बकाया थे। आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण 10 दिन पहले मकान मालिक को छह हजार रुपये का बंदोबस्त करके दिया गया था।

मकान मालिक मनीष तीन हजार रुपये और लेने का दबाव बना रहे थे। वह अभद्रता करते थे। पुलिस से अभद्रता की शिकायत कर रुपये चुकता करने के लिए कुछ समय की मांग की पर सुनवाई नहीं हुई। शुक्रवार को पति घर से निकले। उन्होंने भाजपा कार्यालय गेट नंबर दो के पास आग लगाई और अंदर घुसने लगे। यह देख पुलिस कर्मियों ने उन्हें रोका और कंबल आदि डालकर आग पर काबू पाया।

घटना की जानकारी पर डीसीपी मध्य अपर्णा रजत कौशिक, एडीसीपी राजेश श्रीवास्तव पहुंचे। एडीसीपी ने बताया कि बलराम का इलाज चल रहा है। मामले की जांच की जा रही है। पीड़ित का आरोप है कि वह शिकायत लेकर आम्रपाली चौकी प्रभारी के पास पहुंचा था। पर उन्होंने भगा दिया था। जांच के आदेश दिए गए हैं। दोष सिद्ध होने पर चौकी प्रभारी पर कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Anurag Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट