सीतापुर, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले में पंचायत चुनाव के मतदान के दूसरे दिन शुक्रवार को पकरिया धापूपुर, कमलापुर व सहादतनगर में फायरिंग का मामला सामने आया है। इसमें पकरिया धापूपुर में पैर में गोली लगने से एक युवक का घायल हुआ। आरोप है कि कुछ समर्थकों ने अपने समर्थित प्रत्याशी को वोट न देने को लेकर गाली-गलौज किया। विरोध पर युवक पर फायंरिग शुरू कर दी। थानाध्यक्ष ने बताया कि दोनों पक्षों से कुल चार लोगों को पकड़ा है।

दरअसल, कोतवाली देहात के पकरिया धापूपुर निवासी कमल किशोर पुत्र मेवालाल (18) शुक्रवार शाम घर के दरवाजे पर बैठा था। तभी पहले से घात लगाए झगड़ा करने की नियत से कुछ लोग पड़ोसी के घर बैठे थे। कुछ समर्थकों ने अपने समर्थित प्रत्याशी को वोट न देने को लेकर गाली-गलौज किया। कमल किशोर के विरोध करने पर फायरिंग शुरू कर दी। इसमें एक गोली कमल किशोर के पैर में लगी। इसे जिला अस्पताल लाया गया है। बताया जा रहा है कि हमलावार निवर्तमान प्रधान कुंती देवी के बेटे मोहन की तरफ के थे। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने मोहन को पकरिया धापूपुर गांव में ही दबोच लिया। दूसरे पक्ष से भी दो व्यक्ति पुलिस के हत्थे चढ़े हैं। थानाध्यक्ष ओपी तिवारी ने बताया, निवर्तमान प्रधान कुंती देवी के बेटे मोहन शर्मा ने अपने पक्ष से एक उम्मीदवार को चुनाव लड़ाया है। इसी के पक्ष का पटवारी शराब पीकर शाम को गांव में गाली दे रहा था। तभी दूसरे पक्ष ने ईटा-पत्थर चलाएं हैं। जिसमें कमल किशोर घायल हुआ है। थानाध्यक्ष ने कहा, दोनों पक्षों से कुल चार लोगों को पकड़ा है।

सहादतनगर में भी एक को लगी गोली: इमलिया सुल्तानपुर थाना क्षेत्र में सहादतनगर गांव में भी शुक्रवार देर शाम दो पक्षों में जमकर ईंटा-पत्थर व फायरिंग हुई है। इसमें एक युवक फैजान को गोली भी लगी है। काजी कमालपुर चौकी प्रभारी आलोक धीमान का कहना है कि सहादत नगर में गोली नहीं चली है। ईंटा लगने से एक घायल हुआ है। पुलिस ने घायल के साथ ही फैजान, जुनैद, अबू, वसीम, महफूज व असर को पकड़ भी लिया है। 

कमलापुर में 14 के विरुद्ध मुकदमा: कमलापर कस्बे में सुबह दो पक्षों में कई राउंड फायरिंग भी हुई है। मतदान के एक दिन पहले बुधवार रात को भी ये दोनों पक्ष भिड़े थे। उस समय भी फायरिंग हुई थी। मतदान के भोर ये दोनों पक्ष फिर भिड़ गए। इसमें महोली ग्राम पंचायत से प्रधान पद के दावेदार धर्मेंद्र सिंह के पक्ष से तीन लोग घायल हुए हैं। धर्मेंद्र सिंह पक्ष का आरोप है कि वह लोग सुबह घर के दरवाजे पर बैठे थे, उसी दौरान दूसरे पक्ष के प्रधान पद के दावेदार पंकज भदौरिया व उनके समर्थक आकर उन लोगों से भिड़ गए। दोनों पक्षों से फायरिंग हुई। पुलिस ने दोनों पक्षों से कुल 14 लोगों के विरुद्ध शांति भंग की कार्रवाई की है।