बाराबंकी, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में महिलाओं के साथ आपराधिक घटनाएं खत्म होने के नाम नहीं ले रही हैं। बाराबंकी में एक किशोरी का बुधवार की शाम अपहरण के बाद सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। किशोरी का शव ईंट भट्ठे के पास सड़क के किनारे पड़ा मिला। मृतका के आंतरिक अंगों से बह रहा खून यातनाओं को बयां कर रहा था। सिर व कमर में भी गंभीर चोट के निशान थे। उधर, मृतका के परिजनों ने किशोरी का अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या का आरोप लगाते हुए तीन आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। वहीं,  एसपी आकाश तोमर ने बताया कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई है। एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है, पूछताछ की जा रही है। मामले में जांच चल रही है।

ये है पूरा मामला 

मामला थाना टिकैतनगर क्षेत्र के एक गांव का है। यहां 14 अगस्त की शाम छह बजे 16 वर्षीय किशोरी संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गई थी। जब देर शाम तक किशोरी घर नहीं लौटी तो परिवारजन ने उसे पूरे गांव में ढूंढ़ा, लेकिन उसका कोई पता नहीं चला। इसके बाद चौकी सुखीपुर पुलिस से शिकायत कर अपहरण की आशंका जताई। किशोरी के पिता ने आरोप लगाया था कि उसकी बेटी को गांव के ही निवासी दीपक सैनी अपने साथियों के साथ अपहरण ले गए हैं। दीपक सैनी की बाइक गांव के ही निवासी राजन सिंह व दीपक के यहां पर खड़ी थी, जिस पर किशोरी के पिता ने पूछताछ की तो उसको भगा दिया गया। यहां पर शिकायत करने के बाद परिजन गांव वापस जा रहे थे कि रास्ते में गांव के दो सौ मीटर पहले ईंट भट्ठे के पास सड़क के किनारे किशोरी का शव पड़ा मिला। इसकी सूचना परिवारजन ने पुलिस को दी। 

शव बरामद होते ही हरकत में आई पुलिस 
किशोरी की हत्या कर शव बरामद होने की सूचना के बाद हरकत में आई पुलिस ने आनन-फानन में तीनों आरोपितों पर अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया। मौके से शव लेकर सीएचसी टिकैतनगर ले आई, पुलिस ने मामले में काफी देर तक दर्ज मुकदमे में हत्या की धारा नहीं बढ़ाई। इसको लेकर एकत्र हुए परिवारजन व ग्रामीणों में भारी आक्रोश फैल गया। ग्रामीणों ने शव को पोस्टमॉर्टम को ले जाने के लिए मना कर दिया। 

दो घंटे चली पुलिस व ग्रामीणों के मध्य नोकझोंक
करीब दो घंटे तक पुलिस व ग्रामीणों के मध्य नोकझोंक होती रही। उसके बाद पुलिस ने आरोपितों पर दर्ज मुकदमे में हत्या की धारा बढ़ाई और दुष्कर्म की धारा पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद बढ़ाने का आश्वासन दिया। तब जाकर परिवारजन व ग्रामीण शव को पोस्टमॉर्टम भेजने के लिए राजी हुए। घटना के बाद से गांव में काफी तनाव बना हुआ है। सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

क्या कहना है पुलिस का? 
बाराबंकी पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर के मुताबिक, किशोरी के पिता की तहरीर पर उसके गांव के ही तीन लोगों पर मुकदमा दर्ज कराया गया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई है। एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है, पूछताछ की जा रही है। मामले में जांच चल रही है। जल्द ही इस वारदात का राजफाश होगा।

 

Posted By: Divyansh Rastogi