लखनऊ (जेएनएन)। अयोध्या में भगवान राम का प्रतीकात्मक स्वागत करने के बाद मथुरा में बृज की होली खेलने की तैयारी में लगी योगी आदित्यनाथ सरकार ने बजट में धार्मिक पर्यटन पर काफी जोर दिया है। इसके क्रम में प्रदेश में रामायण से लेकर सूफी सर्किट के विकास के लिए बजट आवंटित किया गया है।

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने इस बार बजट में धार्मिक पर्यटन पर ज्यादा जोर दिया है। प्रदेश सरकार ने नई पर्यटन नीति-2018 के तहत रामायण सर्किट, कृष्णा सर्किट, सूफी सर्किट, बौद्ध सर्किट, बुंदेलखंड सर्किट, जैन सर्किट के लिए करोड़ों रुपए का प्रावधान किया है। यही नहीं अयोध्या की दीपावली, बरसाना की होली, काशी की देव-दीपावली जैसे सांस्कृतिक झांकियों को भी सरकार ने खासी तरजीह दी है।

वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने बजट भाषण में बताया कि ब्रज तीर्थ विकास परिषद की स्थापना एवं सुविधाओं के लिए सौ करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है। यही नहीं नई पर्यटन नीति के तहत रामायण सर्किट के साथ कृष्ण सर्किट, बौद्ध सर्किट, आध्यात्मिक सर्किट, सूफी परिपथ, बुंदेलखंड सर्किट और जैन सर्किट के लिए सरकार ने 70 करोड़ रुपए की राशि दी है। इसके साथ अयोध्या में दीपावली, बरसाना की होली के साथ काशी की देवदीपावली जैसे सांस्कृतिक झांकियों के लिए सरकार ने बजट में दस करोड़ की व्यवस्था की है। प्रदेश सरकार ने गाजियााबद में कैलाश मानसरोवर भवन के निर्माण के लिए 94 करोड़ की व्यवस्था की है। गोरखपुर में आधुनिक ऑडिटोरियम के लिए 29 करोड़ 50 लाख रुपए दिए हैं। 

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप