लखनऊ, जागरण संवाददाता : आलमबाग स्थित क्षेत्रीय भूमि परीक्षण प्रयोगशाला के कार्यालय में तैनात चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी का शव सोमवार को लहूलुहान पड़ा मिला। कर्मचारी के माथे पर चोट के गंभीर निशान मिले हैं, जिससे उसकी हत्या की आशंका जताई जा रही है। पुलिस के मुताबिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

मूलरूप से बलिया के असढिया बरौली निवासी राजेंद्र भर (48) यहां क्षेत्रीय भूमि परीक्षण प्रयोगशाला में कार्यरत थे। वह कार्यालय में ही रहते थे। सोमवार को सहायक निदेशक कक्ष के सामने बेंच पर राजेंद्र का शव पड़ा मिला। यह देख कार्यालय के कर्मचारियों ने सहायक निदेशक वीर बहादुर प्रसाद को मामले की सूचना दी। सहायक निदेशक को आलमबाग पुलिस को घटना के बारे में बताया। राजेंद्र के माथे पर गहरे चोट के निशान मिले हैं। उसके चप्पल व कपड़े कुछ दूरी पर पड़े थे। तकरीबन 20 मीटर के दायरे में चारों तरफ खून के छीटें पड़े थे। पुलिस ने खून के सैंपल को फोरेंसिक जांच के लिए भेजा है। परिवारीजनों को घटना की जानकारी दे दी गई है।

वह कार्यालय में चौकीदारी का काम भी करता था और वहीं सो जाता था। शव पर लगे खून के धब्बे जम चुके थे, जिससे माना जा रहा है कि रविवार देर शाम में ही किसी ने राजेंद्र पर हमला किया था। आशंका जताई जा रही है कि राजेंद्र ने हमलावर से संघर्ष भी किया था। सीओ आलमबाग डॉ. संजीव सिन्हा के मुताबिक परिवारीजन राजधानी आ रहे हैं। तहरीर मिलने पर एफआइआर दर्ज कर छानबीन की जाएगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है राजेंद्र की मौत कैसे हुई है। मृतक के परिवार में पत्नी कमली देवी व दो बेटे और तीन बेटियां हैं, जो गांव में रहती हैं।

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस