Move to Jagran APP

Lucknow News: जल न‍िगम की लापरवाही ने मह‍िला की जान, ऊंचे मैनहोल से टकराई बाइक; सिर पर चोट लगने से मौत

रास्ते में अंधेरा होने के कारण बाइक मेनहोल से टकरा गई जिसमे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। राहगीरों की मदद से उन्हें लोकबंधु अस्पताल पहुंचा गया जहां डॉक्टरों ने 50 वर्षीय कचन शर्मा को मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने बताया कि आलमबाग निवासी कंचन शर्मा लोकबंधु अस्पताल में खाना पकाने का काम करती थीं। महिला का पति एक स्कूल में बतौर इलेक्ट्रिशियन के पद पर कार्यरत है।

By Ajay Srivastava Edited By: Vinay Saxena Published: Tue, 11 Jun 2024 11:36 AM (IST)Updated: Tue, 11 Jun 2024 11:36 AM (IST)
जल न‍िगम की लापरवाही से मह‍िला की मौत।- सांकेति‍क तस्‍वीर

जागरण संवाददाता, लखनऊ। आलमबाग में सीवर योजना का काम देख रही जलनिगम की लापरवाही से एक महिला की मौत हो गई। यहां मैनहोल ऊंचे या फिर टूट गए हैं, जो खतरे का कारण बन रहे हैं। बाइक सवार मां-बेटे रविवार को पकरी पुल से बंगला बाजार की तरफ घर जा रहे थे। रास्ते में अंधेरा होने के कारण बाइक मेनहोल से टकरा गई, जिसमे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। राहगीरों की मदद से उन्हें लोकबंधु अस्पताल पहुंचा गया, जहां डॉक्टरों ने 50 वर्षीय कचन शर्मा को मृत घोषित कर दिया।

पुलिस ने बताया कि आलमबाग निवासी कंचन शर्मा लोकबंधु अस्पताल में खाना पकाने का काम करती थीं। रविवार शाम करीब साढ़े सात बजे बेटे विश्वास शर्मा के साथ वह बाइक से घर की तरफ जा रही थी। तभी पकरीपुल से बंगला बाजार तरफ बढऩे पर सड़क पर अंधेरा था। इसी बीच बाइक का पहिया मैनहोल के खुले ढ़क्कन से टकराया गया, जिससे बाइक अनियंत्रित हो गई।

बेटे ने बताया कि मां कंचन शर्मा का सिर फट गया था। उनके सिर से काफी खून बहने लगा। आनन फानन वह मां को लेकर लोकबंधु अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां से डॉक्टरों ने उन्हें केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में रेफर कर दिया। कुछ घंटे बाद डाक्टरों ने महिला को मृत घोषित कर दिया। महिला का पति एक स्कूल में बतौर इलेक्ट्रिशियन के पद पर कार्यरत है। छोटा बेटा अभय प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा है।

पूर्व में भी खुले मैनहोल के ढ़क्कन में गिरने से बच्चे की हुई थी मौत

बता दें, 23 अप्रैल को जानकीपुरम में कबाड़ व्यापारी सैफुद्दीन के बेटे शाहरूख की मैनहोल में गिरने से मौत हो गई थी। नगरनिगम, जलकल विभाग और स्थानीय पुलिस टीम ने करीब तीन घंटे के बाद रेस्क्यू कर बच्चे के शव को निकाला था। शाहरुख अपनी बहनों के साथ हनुमान जंयती पर एक पंडाल से प्रसाद लेने गया था।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.