Move to Jagran APP

लोकसभा स्पीकर बनाने के लिए I.N.D.I.A. किसे करेगा सपोर्ट? संजय सिंह ने खोले पत्ते; तीन खतरे भी गिनाए

संजय सिंह ने कहा कि लोकसभा में गैर भाजपा स्पीकर बनाने के लिए विपक्ष प्रयास करेगा। उन्होंने दावा किया कि तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) लोकसभा स्पीकर का पद चाहता है। अगर भाजपा ने उसे यह पद नहीं दिया तो विपक्षी गठबंधन आइएनडीआइए उसका समर्थन करेगा। आप के प्रदेश कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि अगर भाजपा का स्पीकर बनता है तो इससे तीन खतरे होंगे।

By Ashish Kumar Trivedi Edited By: Aysha Sheikh Published: Sun, 09 Jun 2024 03:24 PM (IST)Updated: Sun, 09 Jun 2024 03:24 PM (IST)
लोकसभा स्पीकर बनाने के लिए I.N.D.I.A. किसे करेगा सपोर्ट? संजय सिंह ने खोले पत्ते; तीन खतरे भी गिनाए

राज्य ब्यूरो, लखनऊ। आम आदमी पार्टी (आप) के उत्तर प्रदेश प्रभारी संजय सिंह ने शनिवार को कहा कि लोकसभा में गैर भाजपा स्पीकर बनाने के लिए विपक्ष प्रयास करेगा। उन्होंने दावा किया कि तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) लोकसभा स्पीकर का पद चाहता है। अगर भाजपा ने उसे यह पद नहीं दिया तो विपक्षी गठबंधन आइएनडीआइए उसका समर्थन करेगा।

आप के प्रदेश कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि अगर भाजपा का स्पीकर बनता है तो इससे तीन खतरे होंगे। पहला छोटे दलों में तोड़े जाने का खतरा होगा, दूसरा संसद में किसी विपक्षी दल के संसद सदस्य को बोलने का मौका नहीं मिलेगा और तीसरा संविधान की धज्जियां उड़ाई जाएंगी। संजय सिंह ने आरोप लगाया कि पिछली लोकसभा में 150 विपक्षी दलों के सांसदों को निलंबित किया गया था, क्योंकि वह सत्तापक्ष का विरोध कर रहे थे।

'सरकार कितने दिन चलेगी यह नहीं कहा जा सकता'

जेडीयू व टीडीपी के समर्थन से बन रही भाजपा सरकार कितने दिन चलेगी यह नहीं कहा जा सकता। वह 13 दिन भी चल सकती है और 13 महीने भी। क्योंकि अग्निवीर योजना व समान नागरिक संहिता (यूसीसी) को लेकर इन दोनों दलों की सोच भाजपा से भिन्न है। फिर नरेन्द्र मोदी और अटल बिहारी वाजपेयी में काफी अंतर है। मोदी अहंकार व नफरत की राजनीति करते हैं। तभी यूपी में भाजपा फैजाबाद सीट हार गई। अयोध्या के साथ-साथ इलाहाबाद, चित्रकूट व सुलतानपुर जैसी सीटें जहां से प्रभु राम की आस्था जुड़ी है वह भी हार गए।

पत्रकारों के सवाल कि वर्ष 2027 के विधानसभा चुनाव सपा व कांग्रेस ने साथ लड़ने का निर्णय लिया है, आप का क्या स्टैंड रहेगा? इस पर संजय सिंह ने कहा कि अभी इस पर कुछ कहना जल्दबाजी होगा। वह आइएनडीआइए का घटक हैं, इस पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव से वार्ता कर निर्णय लिया जाएगा। नीट परीक्षा में हुई धांधली की सीबीआइ जांच की मांग भी उन्होंने की। पार्टी प्रदेश में संगठन का विस्तार करने के लिए 13 जून को नोएडा में पार्टी पदाधिकारियों के साथ और 20 जून को लखनऊ में कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेगी।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.