सीतापुर, संवाद सूत्र। तंबौर थाने के सहिजर कला गांव में रविवार को दो सगे भाइयों की तालाब में डूबकर मौत हो गई। घटना से परिवार में कोहराम मच गया। सहिजर कला निवासी छोटकन यादव पुत्र गनेशी शनिवार की दोपहर घर से कुछ काम बताकर निकला था। इसके बाद वह रात तक वापस नहीं आया। उसकी तलाश भी की गई, लेकिन पता नहीं चला। रविवार को मक्कापुरवा के उत्तर तालाब में एक शव देखा गया।

शव की शिनाख्त छोटकन के रूप में हुई। छोटे भाई की तालाब में डूबने की जानकारी पाकर बड़ा भाई बड़कन भागते हुए मौके पर पहुंचा। लोग कुछ समझ पाते, उससे पहले बड़कन ने भी तालाब में छलांग लगा दी। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार तालाब गहरा है, मौके पर लोग भी थे। लेकिन बड़कन को बचाने की कोई हिम्मत नहीं जुटा सका। जानकारी पाकर ग्रामीण व परिवार के लोग मौके पर पहुंचे। परिवारजन का रो-रोकर बुरा हाल था। काफी मशक्कत के बाद दोनों भाइयों के शवों को तालाब से बाहर निकाला जा सका। 

दोनों जुड़वा भाई थे: बड़कन व छोटकन जुड़वा भाई थे। इसमें बड़कन बड़ा था। छोटे भाई की मौत का सदमा बड़कन सहन नहीं कर पाया और भावुक होकर तालाब में छलांग लगा दी। मृतक कुल पांच भाई थे। इनमें मृतक दोनों भाई जुड़वा थे। 

घटना से गांव में मातम: छोटकन का विवाह हो चुका था, उसके दो बच्चे हैं। बड़कन ने शादी नहीं की थी। दोनों भाई एक पास ही रहते थे और खेती करते थे। दोनों के पास चार-चार बीघा जमीन थी। दो भाइयों की मौत से सहिजर कला गांव में मातम पसरा था। ग्रामीण व रिश्तेदार दोनों भाइयों के परिवारजन को सांत्वना दे रहे थे। वहीं, एसएसआइ वीरेंद्र कुमार मिश्र ने बताया कि तालाब में डूबने से दोनों भाइयों की मौत हुई है। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

Edited By: Vikas Mishra