लखनऊ, (विकास मिश्र) । शाई होप (100) की धमाकेदार शतकीय पारी के दम पर सोमवार को वेस्टइंडीज ने यहां तीसरे और आखिरी मुकाबले में अफगानिस्तान को पांच विकेट से हराकर वनडे सीरीज 3-0 से अपने नाम कर ली। मेजबानों ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में सात विकेट पर 249 रनों का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया। जवाब में कैरेबियाई टीम ने 48.4 ओवर में पांच विकेट खोकर जीत के लिए जरूरी रन बना लिए। टूर्नामेंट में शानदार बल्लेबाजी का नजारा पेश करने वाले शाई होप को मैन ऑफ द मैच और मैन ऑफ द सीरीज चुना गया। वेस्टइंडीज ने पहला वनडे सात विकेट और दूसरा 47 रनों से अपने नाम किया था।

इससे पहले अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम में वेस्टइंडीज ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया। पॉल और जोसेफ ने अपनी शानदार गेंदबाजी से कप्तान कीरोन पोलार्ड के निर्णय को सही साबित किया। शीर्ष बल्लेबाजों में ओपनर हजरतुल्लाह (50) को छोड़कर कोई भी डटकर कैरेबियाई गेंदबाजों का सामना नहीं कर सका। अफगानिस्तान की खराब बल्लेबाजी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उसने शुरुआती 18 ओवर के खेल में सिर्फ 65 रनों पर अपने तीन महत्वपूर्ण विकेट गंवा दिए थे।

इसी बीच एक छोर पर जमे हजरतुल्लाह भी अर्धशतक पूरा करते ही पॉल की खतरनाक इनस्विंगर पर लुईस के हाथों लपके गए। इस समय अफगानिस्तान का कुल स्कोर 74 रन था। मेजबान टीम इससे उबर नहीं पाई थी कि नजीबुल्लाह जदरान (32) तेजी से रन बनाने की कोशिश में चेस की गेंद पर किंग के हाथों कैच आउट हो गए। इस तरह से अफगानिस्तान ने 29 ओवर में 118 रनों पर पांच विकेट गंवा दिए थे।

असगर और नबी ने अफगानिस्तान की पारी को संभाला : 29 ओवर में सिर्फ 118 रनों पर पांच विकेट गंवा चुकी अफगान टीम मुश्किल स्थिति में थी। अपना पहला वनडे खेल रहे ओपनर इब्राहिम जदरान (02) भी फ्लॉप रहे। हालांकि एक छोर पर असगर अफगान डटे हुए थे। अभी तक अपने बल्ले से कमाल न दिखा पाने वाले असगर और मुहम्मद नबी ने इस मैच में जोरदार पारियां खेलकर टी-20 सीरीज से पहले फार्म में वापसी के अच्छे संकेत दिए। क्रीज पर समय बिताने के बाद असगर ने कैरेबियाई गेंदबाजों की खूब खबर ली। उन्होंने आउट होने से पहले 85 गेंदों का सामना कर तीन चौके व शानदार छह छक्के की मदद से 86 रनों की पारी खेली। वहीं नबी भी 66 गेंदों पर तीन चौके और एक छक्के की बदौलत 50 रन बनाकर नाबाद रहे। कैरेबियाई गेंदबाजों में पॉल ने सबसे ज्यादा तीन विकेट लिए। जबकि जोसेफ को दो, शेफर्ड और चेस को एक-एक विकेट मिला।

होप और किंग की जुगलबंदी: अफगानिस्तान के 250 रनों के लक्ष्य के जवाब में खेलने उतरी कैरेबियाई टीम को सिर्फ चार रन के कुल स्कोर पर ही दो झटके लगे। लुईस (01) और हेटमायर (00) को फिरकी गेंदबाज मुजीब उर रहमान ने तीसरे ओवर की पहली और चौथी गेंद पर पवेलियन भेजकर अफगानिस्तान के लिए जीत की उम्मीद जगाई। हालांकि एक छोर पर ओपनर शाई होप जमे हुए थे। वहीं अपना पर्दापण मैच खेल रहे विस्फोटक बल्लेबाज ब्रेंडन किंग (39) ने टीम की जरूरत पर महत्वपूर्ण पारी खेली। उन्होंने होप के साथ चौथे विकेट के लिए 64 रनों की साझेदारी भी निभाई। किंग को कप्तान राशिद ख्रान ने बोल्ड कर अफगानिस्तान को बड़ी सफलता दिलाई।

होप की साझेदारियों से मिली जीत: 68 रनों पर तीन विकेट गंवा चुकी वेस्टइंडीज टीम को जीत के लिए बड़ी साझेदारी की जरूरत थी। होप ने पूरन (21) और कप्तान पोलार्ड (32) के साथ छोटी मगर महत्वपूर्ण साझेदारी निभाकर जीत की नींव रखी। पोलार्ड ने सिर्फ 26 गेंदों पर एक चौका और दो छक्के की मदद से 32 रन बनाए। कैरेबियाई टीम ने पोलार्ड के रूप में 182 रनों के कुल स्कोर पर अपना पांचवां विकेट गंवाया। इसके बाद रोस्टन चेस (42) ने होप के साथ मिलकर बिना किसी जल्दबाजी के धीरे-धीरे स्कोर को आगे बढ़ाया। इसी बीच शाई होप ने करियर का सातवां और अफगानिस्तान के खिलाफ किसी भी कैरेबियाई खिलाड़ी के रूप में पहला शतक पूरा किया। इस दौरान उन्होंने 145 गेंदों का सामना किया और आठ चौके व तीन छक्के जड़े। ये दोनों खिलाड़ी टीम के जीत दिलाकर नाबाद लौटे।

होप बने मैन ऑफ द मैच और चेस मैन ऑफ द सीरीज:

तीन मैचों की वनडे सीरीज में 145 रन और छह विकेट हासिल करने वाले कैरेबियाई ऑलराउंडर रोस्टन चेस को मैन ऑफ द सीरीज चुना गया। वहीं इस मुकाबले में अपने दम पर वेस्टइंडीज को जीत दिलाने वाले शाई होप मैन ऑफ द मैच बने। होप ने इस सीरीज में सबसे ज्यादा कुल 229 रन भी बनाए।

Posted By: Divyansh Rastogi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप