लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के लोगों को दो दिन से उमस भरी गर्मी से काफी राहत है। मानसून की दस्तक से पहले ही उत्तर प्रदेश बादलों की आगोश में है। इस दौरान कहीं पर तेज बारिश हो रही है तो कहीं पर लोग फुहार का आनंद ले रहे हैं। किसानों के चेहरे पर भी चमक है। धान की रोपाई करने के लिए खेतों में पानी भी भर रहा है।

बीते दिनों बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के कारण पूर्वी उत्तर प्रदेश के हिस्सों में जमकर बरसात के बाद अब दक्षिण-पश्चिम मानसून ने दस्तक दी है। रविवार शाम के बाद से पूर्वी व पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई जिलों में बादल बरसे। सोमवार को भी हर जगह पर कहीं हल्की तो कहीं पर तेज बारिश जारी है। उत्तर प्रदेश के कई जिलों में रविार शाम से एकाएक ही मौसम का मिजाज बदल गया। पूर्वांचल के वाराणसी, सोनभद्र, बलिया, गाजीपुर और गोरखपुर सहित कई जिलों में एकाएक बादल छाने के साथ पानी भी बरस रहा है।

उत्तर प्रदेश के मौसम निदेशक जेपी गुप्ता के मुताबिक बिहार से सटे पूर्वी उत्तर प्रदेश के इलाकों में मानसून प्रवेश कर गया है। इस बीच प्रदेश के विभिन्न अंचलों में मानसून के आने से पहले की बारिश का सिलसिला जारी है। कल शाम को भी पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कहीं हल्की तो कहीं सामान्य वर्षा हुई।

मौसम विभाग केंद्र लखनऊ के अनुसार अगले 48 घंटों में लखनऊ समेत प्रदेश कई अन्य जिलों में मानसून सक्रिय हो जाएगा। मानसून ने इस साल एक सप्ताह पहले दस्तक दी है। इसे अच्छा संकेत माना जा रहा है। भारतीय मौसम विभाग के अनुसार इस साल दक्षिण-पश्चिम मानसून के सामान्य रहने के आसार हैं। मई के महीने में भी पश्चिमी विक्षोभ के लगातार आते रहने से मौसम सुहाना बना रहा। एक-दो दिन गर्म हवा के थपेड़े जरूर पड़े। पूरे माह मौसम अच्छा बना रहा। इसके बाद जून की शुरुआत गर्मी और उमस से जरूर हुई, लेकिन दूसरे सप्ताह से ही प्री मानसून गतिविधियां शुरू हो गईं और अब मानसून आ चुका है।

रविवार को हमीरपुर में सर्वाधिक बारिश

प्रदेश में बीते 24 घंटे के दौरान हमीरपुर में सर्वाधिक 17 सेंटीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है। हमीरपुर जिले के शहजीना व मौदहा में तो जमकर पानी पानी बरसा। इसके साथ बहराइच में 6.6, मऊ जिले के घोसी, झांसी के गरोठा व मिर्जापुर में पांच-पांच, सोनभद्र के घोरवाल, प्रयागराज, आजमगढ़ के लालगंज व वाराणसी में चार-चार, खीरी के पलियाकलां, बस्ती के हरैया, बांदा, झांसी के मउरानीपुर, सुल्तानपुर, औरय्या में तीन-तीन, गोरखपुर के चन्द्रदीपघाट, रायबरेली, प्रतापगढ़ के कुण्डा, महोबाद, जालौन के कालपी, पीलीभीत, हमीरपुर के राठ, जालौन के कोंच तथा अयोध्या में दो-दो सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई है।

हवाएं चलने का भी अलर्ट

मौसम विभाग ने अगले चौबीस घण्टों के दौरान प्रदेश के कहीं हल्की तो कहीं भारी बारिश के बीच में 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा भी चलने की संभावना जताई है। प्रदेश में आंधी पानी का यह सिलसिला 15 जून तक जारी रहने का अनुमान है। मौसम विभाग ने अगले चौबीस घण्टों के दौरान प्रदेश के अलग इलाकों में कहीं हल्की तो कहीं भारी बारिश होने के आसार जताये हैं। इस दौरान 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा भी चल सकती है। प्रदेश में आंधी पानी का यह सिलसिला 15 जून तक जारी रहने का अनुमान है।

इन जिलों में प्री-मॉनसून बारिश

लखनऊ में मौसम विभाग ने कई जिलों में हवा के तेज झोंकों के साथ बारिश का अनुमान जारी किया है। मेरठ, इटावा, औरैया, जालौन, कानपुर नगर, कानपुर देहात, लखनऊ, उन्नाव, बाराबंकी, बहराइच, रायबरेली, हमीरपुर, फतेहपुर, गाजीपुर, मऊ, चंदौली, गोरखपुर, आजमगढ़, देवरिया, अम्बेडकर नगर, बसंती, सुल्तानपुर व संत कबीरनगर में तेज हवा के साथ बारिश होगी। अब इन जिलों में होने वाली बारिश मॉनसूनी नहीं बल्कि प्री-मॉनसून बारिश कही जाएगी।  

Edited By: Dharmendra Pandey