मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लखनऊ, जेएनएन। मुंबई से दिल्ली के लिए उड़ान भरने वाले एक विमान के 162 यात्रियों की जान उस समय खतरे में पड़ गई, जब विमान को कई जगह से डायवर्ट किया गया। विमान लैंडिंग के लिए तीन एयरपोर्ट के चक्कर काटता रहा। विमान को दिल्ली में मौसम खराब होने पर वहां से लखनऊ को डायवर्ट कर दिया गया। यहां भी मौसम खराब होने पर विमान को कानपुर भेजा गया, लेकिन यहां भी लैंडिंग की अनुमति न मिली तो विमान प्रयागराज रवाना हो गया।

इस बीच विमान का ईंधन खत्म होने लगा। लखनऊ में मौसम सुधरा तो पायलट ने एटीसी को बताया कि उसके विमान में ईंधन खत्म होने वाला है, सिर्फ 10 मिनट का तेल ही बचा है। प्राथमिकता के आधार पर लैंडिंग जरूरी है। करीब 30 मिनट के चक्कर काटने के बाद विमान लखनऊ के रनवे पर उतर सका।

30 मिनट के चक्कर काटने के बाद मिली लैंडिंग 

विस्तारा एयरलाइंस का विमान सोमवार शाम मुंबई से दिल्ली जा रहा था। दिल्ली में मौसम खराब था। लिहाजा वहां के एटीसी ने विमान को लखनऊ के चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट की ओर डायवर्ट कर दिया। शाम 6:20 बजे विमान एयरपोर्ट के ऊपर पहुंचा। पायलट ने एटीसी से लैंडिंग की अनुमति मांगी। लखनऊ में इसी समय तेज आंधी आ रही थी। एटीसी ने लखनऊ में विमान की लैंडिंग की अनुमति नहीं दी। इसके बाद विमान कानपुर की ओर रवाना हो गया। कानपुर में भी तेज हवा के कारण विमान की लैंडिंग नहीं हो सकी। पायलट लगातार एटीसी से संपर्क करता रहा। लेकिन मौसम बिगडऩे के कारण एटीसी बार बार लैंडिंग कराने में असमर्थता जताता रहा। कानपुर से विमान प्रयागराज डायवर्ट हो गया।

इस बीच पायलट के कॉकपिट में ईंधन बहुत कम होने का सिग्नल भी जलने लगा। अब पायलट के आगे दो ही विकल्प थे। एक तो वह किसी तरह प्रयागराज तक पहुंचे या फिर लखनऊ में उसकी लैंडिंग हो सकी। शाम 6:40 बजने तक लखनऊ का मौसम ठीक हो गया। एटीसी ने तुरंत पायलट को लखनऊ आने को कहा। कानपुर से प्रयागराज जाते हुए विमान बीच रास्ते से लखनऊ डायवर्ट हो गया। पायलट ने एटीसी को बताया कि उसे वेटिंग में न रखा जाए। आसमान में चक्कर काटने के लिए विमान में ईंधन नहीं बचा है। लिहाजा लैंडिंग प्राथमिकता से करायी जाए। एटीसी ने भी तत्परता दिखाते हुए एयरपोर्ट के ऊपर उड़ान भर रहे विमानों को होल्ड करवा दिया। विस्तारा एयरलाइन के विमान को शाम 6:50 बजे प्राथमिकता से लैंडिंग करवा दी।

Posted By: Divyansh Rastogi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप