प्रयागराज [राज्य ब्यूरो]। UPSESSB TGT PGT Recruitment 2021: उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड (यूपीएसईएसएस) जहां प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक (टीजीटी) व प्रवक्ता संवर्ग (पीजीटी) की नकल विहीन परीक्षा की तैयारी में जुटा है तो वहीं कुछ अभ्यर्थियों ने गुरुवार को प्रवेश पत्र के लिए चयन बोर्ड कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। उनकी मांग थी कि वह कोरोना काल में परिवार वालों के संक्रमित हो जाने के कारण अपडेट फार्म नहीं भर पाए, इसलिए उनके आवेदन को अपडेट कराकर उनका भी प्रवेश पत्र निर्गत किया जाए। मामले में चयन बोर्ड ने नियमों का हवाला देते हुए विचार करने से इन्कार कर दिया है।

उत्तर प्रदेश के अशासकीय सहायता प्राप्त (एडेड) माध्यमिक कालेजों में शिक्षकों की भर्ती के लिए टीजीटी की सात एवं आठ अगस्त को और पीजीटी की 17 एवं 18 अगस्त को परीक्षा होनी है। इस भर्ती के लिए पहली बार नवंबर 2020 में विज्ञापन निकाला गया था। इसमें तदर्थ (एडहाक) शिक्षकों और नए आवेदकों के लिए मानक अलग-अलग था। अभ्यर्थियों ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए इसका विरोध कर दिया।

इसके बाद यह भर्ती प्रक्रिया विवादों में उलझ गई, जिसके कारण इस भर्ती प्रक्रिया को रोक दिया गया। उसके बाद मानक को दुरुस्त करने के साथ मार्च में पुन: भर्ती विज्ञापन निकाला गया। इसमें कहा गया कि जिन अभ्यर्थियों ने नवंबर 2020 के भर्ती विज्ञापन के मुताबिक फार्म भरे हैं, उन्हें अपडेट फार्म अनिवार्य रूप से भरना होगा। उन्हें यह राहत दी गई थी कि फीस दोबारा नहीं देनी है।

गुरुवार को चयन बोर्ड कार्यालय पर प्रदर्शन करने पहुंचे अभ्यर्थियों का कहना था कि जब दोबारा भर्ती विज्ञापन निकाला गया तो कोरोना संक्रमण तेजी से फैला हुआ था। उनके घरों के कई सदस्य कोरोना संक्रमित हो गए थे, जिसके चलते परिवार होम क्वारंटाइन हो गया था। इस कारण वह अपडेट फार्म नहीं भर पाए। ऐसे में उनका फार्म अपडेट कराकर प्रवेश पत्र निर्गत कराया जाए।

मामले पर चयन बोर्ड के उप सचिव नवल किशोर का कहना है कि बीते मार्च माह में दुबारा विज्ञापन निकाला गया और 20 मई तक आवेदन करने का समय दिया गया था। 12 लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने आवेदन किया। उसी आधार पर परीक्षा की तिथि घोषित कर प्रवेश पत्र जारी किए गए हैं। उन्होंने कहा कि अपडेट फार्म न भरने वालों को प्रवेश पत्र नहीं निर्गत किया जा सकता।

परीक्षा को लेकर 57 जिलों से चयन बोर्ड ने की चर्चा : वर्ष 2016 की जीव विज्ञान टीजीटी एवं 2021 की टीजीटी व पीजीटी परीक्षा को नकलविहीन संपन्न कराने के लिए गुरुवार को उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड ने प्रदेश से 57 जिलों में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए बात की। इसमें चयन बोर्ड के चेयरमैन वीरेश कुमार ने संबंधित जिलों के डीएम, एसपी एवं जिला विद्यालय निरीक्षकों से बात की। शांतिपूर्ण परीक्षा कराने और कोरोना संक्रमण को देखते हुए केंद्रों पर तैयारियां कराने पर विमर्श किया गया।

Edited By: Umesh Tiwari