लखनऊ, जागरण संवाददाता। आषाढ़ में मानसून ने उम्मीदें तोड़ दी हैं। जेठ जैसी धूप होने से इस माह में हाने से लोग पसीने से भीग रहे हैं। लखनऊ के लोगों को भीषण गर्मी से राहत के लिए अभी एक दिन और इंतजार करना होगा। यहां 18 जुलाई को बारिश की संभावना है। मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता का कहना है कि एक-दो दिन में तेज बारिश के आसार हैं। शनिवार को कुशीनगर, बहराइच, लखीमपुर खीरी में तेज बारिश हो सकती है। वहीं, रविवार को लखनऊ के अलावा देवरिया, गोरखपुर, संत कबीर नगर, बस्ती, कुशीनगर, महाराजगंज, सिद्धार्थनगर, गोंडा, बलरामपुर, कन्नौज, कानपुर देहात, कानपुर नगर, उन्नाव, अलीगढ़, मथुरा, हाथरस, इटावा, आगरा, फीरोजाबाद, मैनपुरी, औरैया और बिजनौर में तेज बारिश हो सकती है।

जुलाई में कमजोर रहा मानसून : एक से 16 जुलाई तक लखनऊ में सामान्य बारिश 199.2 मिमी होनी चाहिए थी, जिसके मुकाबले 150.5 मिमी ही बारिश हुई। बंगाल की खाड़ी में लगातार नये-नये सिस्टम बन रहे, लेकिन पछुआ के प्रभावी होने के कारण वह बिहार-यूपी की ओर नहीं बढ़ पा रहे हैं। दूसरी तरफ अरब सागर की ओर से बढ़ रहा मानसून गोवा, महाराष्ट्र, गुजरात व राजस्थान समेत हरियाणा, दिल्ली व पंजाब समेत हिमाचल व उत्तराखंड तक में अच्छी बरसात की संभावना पैदा कर रहा है।

जुलाई में बारिश

वर्ष        बारिश (मिमी)

2020     243.5

2019     542.2

2018     343.7

2017     448.8

2016     203.3

2015     204.1

2014     266.5

2013     232.3

2012     372.3

2011     280.8

Edited By: Anurag Gupta