लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में रिकार्ड तोड़ बारिश के बाद शुक्रवार को हाड़कंपाऊ सर्दी लोगों के लिए मुसीबत बनी। हालांकि मध्य उत्तर प्रदेश, बुंदेलखंड और पूर्वांचल के जिलों में तापमान में हल्की गिरावट दर्ज की गई। वाराणसी, फैजाबाद और कानपुर के मौसम विज्ञानियों के मुताबिक आगामी दिनों में हल्की से मध्यम बदली छाई रहेगी। कुछ स्थानों पर बूंदाबांदी और बारिश के आसार हैं। वहीं शुक्रवार की रात कई जिलों में घने कोहरे ने भी लोगों को परेशान किया। राजधानी लखनऊ में देर रात सड़कों पर गांड़ियां रेंगती रहीं। रेल और हवाई यातायात भी प्रभावित हुआ।

पूर्वी उत्तर प्रदेश के वाराणसी, सोनभद्र, बलिया, आजमगढ़, मऊ, जौनपुर, गाजीपुर, चंदौली, मीरजापुर और भदोही में शुक्रवार सुबह से घने बादलों ने डेरा जमाया। तेज बारिश की आशंका के बीच कुछ जगहों पर फिलहाल बूंदाबांदी ही हुई। रात से बारिश तेज होने का अनुमान है। मौसम वैज्ञानिक प्रो. एसएन पांडेय के अनुसार शनिवार को कुछ जगहों पर बूंदाबांदी और हल्की बारिश के आसार हैं। गोरखपुर के आसपास क्षेत्रों में शुरू हुआ बारिश का सिलसिला शुक्रवार सुबह तक रुक-रुक कर चला लेकिन दोपहर बाद बादलों के बीच धूप निकल आई। हालांकि आसमान में बादल जमे हैं।

गुरुवार शाम से शुक्रवार शाम तक गोरखपुर में 12.1 मिमी बारिश रिकार्ड की गई। प्रयागराज में आधी रात के बाद शुरू हुई बारिश शुक्रवार सुबह करीब 11 बजे तक रुक-रुककर होती रही। बारिश और ठंड के चलते अचानक स्कूल में छुट्टी कर दी गई। बादल छा जाने से पारा चढ़ गया। प्रतापगढ़ में शुक्रवार सुबह बरसात से ठंडक और बढ़ गई। ठंड को देखते शनिवार तक के लिए स्कूल बंद कर दिया गया। 12.2 मिमी वर्षा रेकार्ड की गई। कौशांबी में भोर में रिमझिम बारिश हुई और कोहरा भी रहा। दिन में सूर्यदेव के दर्शन नहीं हुए।

पश्चिम उत्तर प्रदेश में दिनभर बूंदाबांदी होती रही। बारिश के चलते तापमान में गिरावट दर्ज की गई। मुरादाबाद में 24 घंटे में 31.2 मिमी बारिश दर्ज की गई। आगरा, मथुरा, फीरोजाबाद, मैनपुरी और एटा में गुरुवार को बारिश और ओलावृष्टि के बाद शुक्रवार सुबह भी बादल छाए रहे। आगरा के आसपास जिलों में दोपहर बाद धूप खिली। मेरठ में शुक्रवार को भी बारिश होती रही। बागपत में अमीनगर सराय में ठंड से युवक की मौत हो गई। गैडबरा गांव में मकान की छत गिरने से एक व्यक्ति घायल हो गया। मेरठ में बारिश 7.8 मिमी, मुजफ्फरनगर में 12.8 मिमी, सहारनपुर में 3.5 मिमी, 18.3 मिमी जबकि शामली में 13 एमएम बारिश हुई। बरेली में शुक्रवार सुबह तक रुक-रुककर बारिश होती रही। सहारनपुर में ठंड व बर्फीली हवाओं का प्रकोप जारी है। बारिश से ठंडक भी बढ़ गई।

मध्य उत्तर प्रदेश और बुंदेलखंड के के जिलों में हमीरपुर, बांदा और फतेहपुर के छोड़कर सभी जिलों में अधिकतम तापमान बीस डिग्री से कम और न्यूनतम तापमान दस डिग्री के आसपास रहा। कन्नौज में रात में भी बारिश हुई। हालांकि अधिकतम तापमान बढ़ा लेकिन न्यूनतम तापमान घटने से सर्दी का सितम बना रहा। रात में करीब 25.2 मिमी बारिश हुई। सीएसए के मौसम वैज्ञानिकों ने पूर्वानुमान जताया कि आगामी दिनों में हल्की से मध्यम बदली छाई रहेगी।

वाराणसी में अधिकतम तापमान 20 डिग्री और न्यूनतम 14 डिग्री, गोरखपुर का अधिकतम 16.8 और न्यूनतम तापमान 14.1 डिग्री और प्रयागराज में अधिकतम तापमान 19.6 और न्यूनतम 14.7 डिग्री सेल्सियस रहा। मुरादाबाद न्यूनतम तापमान 12.2 डिग्री, बरेली में न्यूनतम तापमान 13.3 डिग्री सेल्सियस जबकि मेरठ में न्यूनतम तापमान 11.4 डिग्री दर्ज किया गया। कानपुर नगर में अधिकतम तापमान 18 और न्यूनतम 13.6 डिग्री तथा फर्रुखाबाद अधिकतम 18 डिग्री और न्यूनतम 12 डिग्री सेल्सियस रहा। इस दौरान पश्चिम उत्तर प्रदेश के बिजनौर, शामली, बागपत, मुजफ्फरनगर और सहारनपुर जैसे कई जिलों का न्यूनतम तापमान आठ डिग्री के करीब रहा।

फसल प्रभावित

गेंहू की फसल के लिए बारिश लाभदायक और आलू, सरसों के लिए नुकसानदायक बताई जा रही है। ज्यादा बारिश से आलू एवं गेहूं की पछेती फसल को नुकसान की आशंका है।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस