Move to Jagran APP

UP Weather Alert: लखनऊ में अचानक बदला मौसम, तेज आंधी के साथ बार‍िश, प्रदेश के 20 से अध‍िक शहरों में बरसात

UP Weather Alert Update Today यूपी में बार‍िश के बाद से मौसम सुहावना हुआ है। तापमान ग‍िरने से हवा में ठंडक महसूस की जा रही है। वहीं मौसम व‍िभाग ने अगले तीन द‍िनों तक बार‍िश के आसार जताए हैं।

By Jagran NewsEdited By: Prabhapunj MishraPublished: Sat, 27 May 2023 07:47 AM (IST)Updated: Sat, 27 May 2023 12:49 PM (IST)
UP Weather Alert: लखनऊ में अचानक बदला मौसम, तेज आंधी के साथ बार‍िश, प्रदेश के 20 से अध‍िक शहरों में बरसात
UP Weather Alert Update Today: यूपी में बार‍िश का अलर्ट, मानसून होगा कमजोर

लखनऊ, जासं। प्रदेश के 40 से अध‍िक ज‍िलों में तेज आंधी के साथ हुई बार‍िश से मौसम बदल गया है। बार‍िश से लोगों ने राहत की सांस ली तो वहीं बार‍िश के बाद बढ़ी उसम से लोग परेशान भी हुए। वहीं लखनऊ सह‍ित अन्‍य ज‍िलों में छह से आठ ड‍िग्री तापमान में ग‍िरावट दर्ज की गई है। लखनऊ में शन‍िवार दोपहर अचानक मौसम बदल गया। तेज आंधी के बाद झमाझम बार‍िश ने मौसम को खुशनुमा कर द‍िया। बता दें क‍ि प्रदेश के बीस से अध‍िक शहरों में बरसात हो रही हे। इसी के साथ मौसम व‍िभाग ने अगले चार द‍िनों तक बार‍िश के आसार जताए हैं।

loksabha election banner

गुरुवार की रात से शुरू हुई छिटपुट बारिश शुक्रवार की सुबह तक जारी रही। शन‍िवार को भी इसका असर नजर आया। बार‍िश के चलते राजधानी के अधिकतम तापमान में लगभग आठ डिग्री तक की गिरावट दर्ज की गई है। मौसम विभाग के अनुसार, बादलों की आवाजाही के साथ प्रदेश के कुछ जगहों पर एक जून तक छिटपुट बारिश के आसार हैं। हालांकि अन्य जगहों पर तेज धूप से पारा चढ़ेगा। मौसम केंद्र लखनऊ के वरिष्ठ वैज्ञानिक दानिश के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ अब धीरे-धीरे कमजोर पड़ रहा है।

इसके चलते अब प्रदेश के कुछ अलग अलग हिस्सों में 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से धूल भरी आंधी के साथ पश्चिमी उत्तर प्रदेश में छिटपुट बारिश के साथ धीरे-धीरे मौसम साफ होने लगेगा। शनिवार से पूर्वी उत्तर प्रदेश के हिस्सों में बारिश में कमी देखी जाएगी। शुक्रवार को लखनऊ का अधिकतम तापमान सामान्य से 8.9 डिग्री गिरकर 31.2 डिग्री सेल्सियस पर दर्ज हुआ। वहीं न्यूनतम तापमान में भी 4.9 डिग्री तक की गिरावट के साथ तापमान 20.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

प्रदेशभर में अधिकतम तापमान में छह से आठ डिग्री तक की गिरावट दर्ज की गई है। सर्वाधिक तापमान उरई में 37 डिग्री सेल्सियस और झांसी में 36.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। रात भर बारिश से प्रदेश भर में न्यूनतम तापमान में चार से छह डिग्री तक की गिरावट दर्ज की है। सबसे कम तापमान मेरठ और बरेली में 17.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

नौतपा में अगर नहीं तपा सूरज तो मानसून भटकेगा राह

नौतपा की ठंडी शुरुआत से कमजोर मानसून के आसार बन रहे हैं। नौतपा के पहले दिन गुरुवार को 33 और शुक्रवार को 30 डिग्री तापमान रहा है। अभी 28 मई तक मौसम ऐसा ही बने रहने की उम्मीद है। मौसम का यह बदलाव केरल से आने वाले सालाना मानसून की राह भटका सकता है। मौसम विभाग ने भी केरल में मानसून के देर से (चार जून तक) आने की संभावना जताई है लेकिन कानपुर के मौसम विज्ञानियों को नौतपा के तपने का इंतजार है।

आगामी चार जून तक नौतपा है। मौसम विज्ञानी डा. एसएन सुनील पांडेय के अनुसार जब सूरज खूब तपता है तो मैदानी क्षेत्र के वायु मंडल में कम दबाव का वायु क्षेत्र निर्मित होता है। हवाएं हमेशा कम दबाव क्षेत्र की ओर बहती हैं। नौतपा से बनने वाले कम दबाव वायु क्षेत्र में केरल से आने वाली मानसून हवाएं तेजी से पहुंचती हैं और वर्षा की वजह बनती हैं।

कानपुर में शन‍िवार सुबह बार‍िश के बाद मौसम सुहावना रहा। हवाओं में ठंडक महसूस की जा रही है। वहीं शुक्रवार की सुबह पश्चिमी विक्षोभ से बदले मौसम ने शहर में अच्छी वर्षा कराई। लगभग 1 घंटे के दौरान 8.4 मिली मीटर की बारिश हुई है। 24 घंटे में 9 मिली मीटर की बारिश को खेती के लिए अच्छा माना जा रहा है। इससे धान की फसल के लिए खेत में बीजों की बुवाई की जा सकेगी। शहर के मौसम में अप्रत्याशित बदलाव पश्चिमी विक्षोभ की वजह से हुआ है।

गुरुवार से नौतपा की शुरुआत हुई है जिसमें हर साल सूरज आसमान में सिर के ऊपर चढ़कर तपता है। लेकिन पहले दिन ही सुबह दशमलव 6 मिली मीटर की बारिश हुई और दिन का तापमान गिरकर 33 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया था अब शुक्रवार के दिन जबकि नौतपा का दूसरा दिन है तो सुबह 4:00 बजे के बाद से बूंदाबांदी और तेज हवा की शुरुआत हुई। लगभग 5:00 बजे गरज चमक के साथ बादल जमकर बरसे। सुबह लगभग 1 घंटे तक हुई तेज वर्षा के दौरान चंद्र शेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय की मौसम विज्ञान प्रयोगशाला में 8.4 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।

गुरुवार की सुबह और शुक्रवार की सुबह हुई कुल वर्षा 9 मिलीमीटर है जबकि मौसम विज्ञानियों का अनुमान पश्चिमी विक्षोभ की वजह से शहर में 10 से 12 मिलीमीटर वर्षा होने का था। शुक्रवार सुबह हुई वर्षा का असर शहर के तापमान पर भी दिख रहा है। मौसम सुहावना बना हुआ है। दिन में 10:00 बजे भी अधिकतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस ही दर्ज किया गया।

कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञानी डा, एसएन सुनील पांडेय के अनुसार शुक्रवार की सुबह हुई वर्षा का लाभ किसानों को मिलने वाला है जो किसान धान की फसल के लिए अपने खेत को तैयार करने में जुटे थे अब वह आसानी से धान की बुवाई कर सकेंगे। अगले 2 दिन के दौरान वर्षा और होने की संभावना है इससे धान की खेती में बीज बुवाई के दौरान अतिरिक्त सिंचाई की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। जब धान की रोपाई होगी तब तक मानसून की वर्षा शुरू होने की उम्मीद बनी हुई है।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.