लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। UP Panchayat Sahayak Bharti 2021: उत्तर प्रदेश की 58,189 ग्राम पंचायतों में सहायकों की नियुक्ति प्रक्रिया शुक्रवार को पूरी हो गई है। लगभग सभी गांवों में उम्दा मेरिट वाले अभ्यर्थियों का चयन हुआ। उनके अंकपत्रों का सत्यापन कराए जाने के बाद नियुक्ति पत्र दिए गए हैं। चयनित का नियुक्ति पत्र पंचायत भवन में चस्पा भी कराया गया, ताकि गांव वालों को इसकी जानकारी हो जाए। कई गांवों में नियुक्ति पाने वालों की मेरिट पर सवाल भी उठे हैं।

उत्तर प्रदेश सरकार ने सभी ग्राम पंचायतों में तेजी से कामकाज कराने के लिए ग्राम सचिवालय और पंचायत सहायक की नियुक्ति करने का आदेश दिया। अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने 25 जुलाई को इस संबंध में आदेश और सहायक चयन की समय सारिणी जारी की।

मनोज कुमार सिंह ने बताया कि 58189 ग्राम पंचायतों में से सिर्फ 16421 में ही ग्राम पंचायत अधिकारी व ग्राम विकास अधिकारी के पद सृजित हैं, जबकि कार्यरत की संख्या महज 11,008 हैं। ये कर्मचारी हर गांव में पहुंचकर नियमित कार्य नहीं कर सकते। इसलिए पंचायत सहायक या एकाउंटेंट कम डाटा इंट्री आपरेटर का चयन करा रहे हैं। हर गांव सभा में जिस जाति का प्रधान उसी जाति का सहायक चयनित करने का आदेश हुआ। उन्हें छह हजार रुपये प्रतिमाह मानदेय मिलेगा।

चयन प्रक्रिया 30 जुलाई से शुरू हुई, आवेदनपत्र दो से 17 अगस्त तक लिए गए, 24 से 31 अगस्त तक मेरिट लिस्ट बनी, डीएम की समिति ने मेरिट का सत्यापन कराकर नियुक्ति पत्र निर्गत कराया है। प्रक्रिया 10 सितंबर को पूरी हो गई है। अब नियुक्त सहायकों को दो माह के भीतर प्रशिक्षित किया जाएगा। जिला स्तर पर आयोजित होने वाले इस प्रशिक्षण में पंचायत सहायकों को ग्राम पंचायत के क्रियाकलाप, उनके अधिकार व जिम्मेदारियों के बारे में जानकारी दी जाएगी। पंचायतराज विभाग ने वेबसाइट पर इस संबंध में सूचना मांगी है लेकिन अधिकांश जिलों ने रिपोर्ट अपलोड नहीं किया है।

Edited By: Umesh Tiwari