लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। Oxygen Concentrator: कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की बेतहाशा बढ़ी मांग से निपटने के लिए राज्य सरकार 17000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीदने जा रही है। इसके लिए प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। पहली के मुकाबले कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर ज्यादा व्यापक और घातक साबित हुई है। इसने गांवों को भी अपनी चपेट में लिया है। इससे सुदूरवर्ती ग्रामीण क्षेत्रों में भी ऑक्सीजन की मांग बढ़ी है। इस आपात स्थिति से निपटने के लिए सरकार हर संभव प्रयास कर रही है। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हर जिले में दो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों (सीएचसी) को कोविड समर्पित अस्पताल के तौर पर तैयार करने का निर्देश दिया है। उन्होंने प्रदेश के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों को 20-20 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध कराने की व्यवस्था करने के लिए भी कहा है। सभी जिलों में 4500 से अधिक कंसंट्रेटर भेजे गए हैं। सरकार 17000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीदने की कार्यवाही में जुटी है। 

ऑक्सीजन की समस्या से निपटने के लिए इसके प्लांट लगाने की कवायद भी शुरू हो गई है। केंद्र सरकार को प्रदेश के 61 जिलों में ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना के लिए प्रस्ताव भेजे जा चुके हैं। इनमें से 37 जिलों में ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना के प्रस्ताव मंजूर कर दिए गए हैं। वहीं 14 जिलों में पीएम केयर्स फंड से ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना का कार्य जारी है।

चिकित्सीय उपयोग के लिए तरल ऑक्सीजन को आसानी से ट्रांसपोर्ट करने के लिए राज्य सरकार 45 क्रायोजेनिक ऑक्सीजन टैंकर खरीदने की प्रक्रिया में भी जुटी है। इसके लिए नोएडा प्राधिकरण को ग्लोबल टेंडर की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

Edited By: Divyansh Rastogi