लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण की चाल सुस्त होने के साथ ही पॉजिटिविटी रेट भी तेजी से घट रहा है। अब तक पॉजिटिविटी रेट सर्वाधिक 4.6 फीसद तक रहा लेकिन अब यह घटकर दो फीसद रह गया है। प्रदेश में अब तक 1.45 करोड़ लोगों की कोरोना जांच कराई जा चुकी है। देश में सर्वाधिक कोरोना टेस्ट कराने वाला राज्य यूपी है।

उत्तर प्रदेश में कोरोना के पॉजिटिविटी रेट मार्च से लेकर 31 मई तक 3.3 फीसद था, लेकिन इसके बाद यह लगातार बढ़ता गया। जून में पॉजिटिविटी रेट चार फीसद और उसके बाद जुलाई में भी बढ़ोतरी जारी रही। जुलाई में यह 4.2 प्रतिशत पर पहुंचा और उसके अगले महीने अगस्त में यह अब तक के सबसे उच्चतम स्तर 4.6 फीसद पर पहुंच गया। उसके बाद से इसमें गिरावट आना शुरू हुई। सितंबर में इसमें मामूली गिरावट आई और यह चार प्रतिशत पर पहुंच गया लेकिन अक्टूबर में इसमें भारी गिरावट देखने को मिली है।

अक्टूबर में अब तक कोरोना का पॉजिटिविटी रेट दो फीसद है। यानी प्रदेश में अब जितने लोगों का कोरोना टेस्ट हो रहा है उसमें से केवल दो प्रतिशत ही संक्रमित पाए जा रहे हैं। फिलहाल स्वास्थ्य विभाग ने बढ़ती ठंड और त्योहारों के सीजन में किसी भी तरह की लापरवाही न बरतने की हिदायत दी है। लापरवाही के कारण कोरोना की दूसरी लहर न आए इसके लिए दो गज की शारीरिक दूरी और मास्क अनिवार्य रूप से लगाने के नियम का सख्ती से पालन करें।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस