लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में बतौर मुख्यमंत्री रिकॉर्ड पर रिकॉर्ड बनाते जा रहे योगी आदित्यनाथ के नाम पर आज एक और उपलब्धि दर्ज हो गई। उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के सर्वाधिक समय तक मुख्यमंत्री रहने वाल नेता का रिकॉर्ड बनाने वाले योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश में भाजपा के पहले ऐसे मुख्यमंत्री हैं, जिन्होंने अपने कार्यकाल में पांच बजट पेश किया है। प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की सरकार के इस कार्यकाल का यह पांचवां तथा अंतिम बजट था।

विधानमंडल के बजट सत्र में सोमवार को वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना के साथ सीएम योगी आदित्यनाथ बजट पेश करने विधान भवन में पहुंचे। इस दौरान विधानसभा में वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए कुल पांच लाख 50 हजार 270 करोड़ रुपया का कुल बजट पेश किया। इससे पहले वित्तीय वर्ष 2020-21 में बजट 5.12 लाख करोड़ रुपये का था। इस तरह बीते वर्ष की अपेक्षा इस वित्तीय वर्ष का बजट 38 हजार करोड़ रुपया ज़्यादा का है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस सरकार में अपने कार्यकाल का अंतिम बजट पेश किया। इस बजट के विधानसभा में पेश होते ही उनके नाम एक और रिकॉर्ड में दर्ज हो गया। उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के वह पहले ऐसे मुख्यमंत्री हैं जिनकी देखरेख में लगातार पांचवीं बार बजट पेश किया गया। प्रदेश में इससे पहले कल्याण सिंह, राम प्रकाश गुप्ता तथा राजनाथ सिंह भी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री थे, लेकिन कोई भी तीन बार से अधिक बजट नहीं पेश कर सका था।

मुख्यमंत्री के रूप में उत्तर प्रदेश को स्वच्छ भारत अभियान में शीर्ष पर लाने के बाद सर्वाधिक कोरोना वायरस जांच कराने के बाद उत्तर प्रदेश को विकास कार्य में शीर्ष पर लाने वाले योगी आदित्यनाथ के नाम एक और बड़ी उपलब्धि भी जुड़ी थी। इस बार गणतंत्र दिवस की परेड में उत्तर प्रदेश की झांकी को देश में सर्वश्रेष्ठ झांकी घोषित किया गया। कोरोना वायरस संक्रमण काल में टीम-11 के साथ लगातार बैठक कर प्रदेश के हर कोने की समीक्षा करने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रयागराज में कुंभ का आयोजन किया गया। यह बेहद ही सफल आयोजन रहा। पीएम नरेंद्र मोदी भी हर काम में देश के अन्य राज्य के सीएम को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मेहनत, लगन व कर्मठता की मिसाल देते रहते हैं। योगी आदित्यनाथ सरकार की एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) योजना की भी देश में लोग मिसाल दे रहे हैं। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपना पहला बजट वित्तीय वर्ष 2017-18 में 3.84 लाख करोड़ का पेश किया था। वित्तीय वर्ष 2017-18 में 3.84 लाख करोड़, 2018-19 में 4.28 लाख करोड़, 2019-20 में 4.79 लाख करोड़ और 2020-21 में 5.12 लाख करोड़ रुपये का बजट पेश किया था। अब 2021-22 के लिए उन्होंने इसे बढ़ाकर 5.5 लाख करोड़ किया है। यह उत्तर प्रदेश के इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा बजट है।

यह भी पढ़ें: UP Budget 2021-22: यूपी सरकार के बजट के बाद CM योगी आदित्यनाथ के नाम आज दर्ज होगा एक और रिकॉर्ड

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021