लखनऊ, जेएनएन। यूपी बोर्ड (UP Board Exam 2020) की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षा इस बार स्पेशल टास्क फोर्स (STF) की निगरानी में होगी। मुख्य सचिव आरके तिवारी ने सभी संवेदनशील परीक्षा केंद्रों के बाहर एसटीएफ तैनात करने के निर्देश दिए हैं। मंगलवार को उन्होने सभी मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों के साथ यूपी बोर्ड परीक्षा की तैयारियों को लेकर बैठक की। उन्होंने निर्देश दिए कि परीक्षा केंद्रों के बाहर धारा 144 लागू करने के साथ-साथ सशस्त्र बल भी तैनात किया जाए।

मुख्य सचिव आरके तिवारी ने यह भी निर्देश दिए कि डीआइजी, एसएसपी, पुलिस अधीक्षक व प्रशासन के अधिकारी बैठ कर नकल विहीन बोर्ड परीक्षा आयोजित करने की कार्य योजना तैयार करें। परीक्षा के दौरान केंद्र के बाहर ऐसे असमाजिक तत्व जो नकल करवाने के फिराक में रहते हैं, वह न जुट सकें। परीक्षा केंद्रों के निरीक्षण के दौरान सीसीटीवी कैमरा, वायस रिकार्डर, राउटर इत्यादि ढंग से काम कर रहे हैं या नहीं इसे जरूर चेक किया जाए। वहीं परीक्षा केंद्र में प्रवेश करने से पहले ही विद्यार्थियों की ढंग से तलाशी ली जाए।

उन्होंने निर्देश दिये कि परीक्षा कक्ष के बाहर विद्यार्थियों के जूते-मोजे न उतरवाए जाएं। प्रश्नपत्रों को सुरक्षित ढंग से रखने के पुख्ता इंतजाम किए जाएं। प्रत्येक जिले में एक कंट्रोल रूम बनाकर परीक्षा केंद्रों की वेब टेलीकास्ट के माध्यम से निगरानी की व्यवस्था की जाए। प्रत्येक कम्प्यूटर पर लगातार 15 से 16 परीक्षा केंद्रों की निगरानी लगातार की जाए। वहीं उड़ाका दस्ते हर दिन अपनी निरीक्षण पंजिका को भरेंगे और ब्योरा उपलब्ध करवाएंगे। परीक्षा केंद्रों के आसपास लाउडस्पीकर के प्रयोग पर प्रतिबंध रहेगा। हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की दोनों पालियों की परीक्षा के दौरान निर्बाध रूप से बिजली की व्यवस्था की जाए।

शांतिपूर्ण परीक्षा दे रहे विद्यार्थियों को न हो कोई दिक्कत

मुख्य सचिव आरके तिवारी ने अधिकारियों को यह भी आदेश दिए कि शांतिपूर्ण ढंग से परीक्षा दे रहे परीक्षार्थियों को किसी भी तरह की असुविधा नहीं होनी चाहिए। उनके लिए फर्नीचर, बिजली इत्यादि की पर्याप्त व्यवस्था रहे।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस