लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश की सत्ता में वापसी के जोरदार प्रयास में लगी कांग्रेस ने मंगलवार को बड़ी घोषणा की है। कांग्रेस उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में 40 प्रतिशत टिकट महिलाओं को देगी। यानी 403 विधानसभा सीट में से कांग्रेस 162 से अधिक सीट पर महिला प्रत्याशी उतारेगी।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की राष्ट्रीय महासचिव तथा उत्तर प्रदेश की प्रभारी पर प्रियंका गांधी ने मंलगवार को उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के दफ्तर में मीडिया के समक्ष इसकी घोषणा की। महाराजगंज से कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा का चुनाव लड़ चुकीं पार्टी की वरिष्ठ नेता तथा प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत्र और उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की विधानमंडल दल की नेता अराधना मिश्रा 'मोना के बीच में बैठी प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में महिलाओं को 40 प्रतिशत टिकट देने की बड़ी घोषणा की। उन्होंने कहा कि हमने 15 नवंबर तक आवेदन मांगे हैं। महिलाएं टिकट के लिए आवेदन करें। हमको तो देश के विकास के लिए महिलाओं को आगे लाना है।

प्रियंका गांधी वाड्रा की प्रेसवार्ता में नारी सशक्तिकरण का बैनर लगा था, उसका थीम था, लड़की हूं, लड़ सकती हूं। प्रियंका गांधी वाड्रा ने महिलाओं के हित में कांग्रेस का यह निर्णय उस पारो के कहने पर है, जिसने संगम पर मेरा हाथ पकड़कर कहा था मैं राजनीति में आना चाहती हूं। यह निर्णय, वैष्णवी, पारो, हाथरस की बेटी और प्रदेश की हर उस महिला के लिए है जो न्याय चाहती है, बदलाव चाहती हैं।

यह निर्णय उस पूजा और मधु के लिए भी है जो रात के अंधेरे में मुझे सीतापुर के पीएसी कंपाउंड में घेरकर ले गयीं। उन्होंने कहा कि मेरा 40 प्रतिशत टिकट महिलाओं को देने का यह निर्णय उस बेटी पारो के लिए है, जिसने मुझसे कभी कहा था कि मैं नेता बनना चाहती हूं। एयर फोर्स के पायलट की बहन वैष्णवी के लिए जो भाई को खोकर भी पायलट बनना चाहती है। उन्नाव की उस लड़की के लिए है जिसे जलाकर मार दिया गया। उसकी भाभी के साथ और भाभी की नौ साल की बेटी के लिए भी है। हाथरस की उस मां के लिए, जिसे न्याय चाहिए। लखनऊ की की बेटी लक्ष्मी वाल्मीकि के लिए जिसने आटीआई किया और नौकरी नहीं मिली। सोनभद्र की बेटी किस्मत के लिए है। यह निर्णय हर उस महिला के लिए है जो न्याय चाहती है। आगे बढऩा चाहती है।

उत्तर प्रदेश में सीएम के चेहरे को लेकर अभी कोई फैसला नहीं

प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश के चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर कहा कि अभी कोई फैसला नहीं है। मेरे चुनाव लडऩे के बारे में भी अभी मैं विचार करूंगी। अभी तो उत्तर प्रदेश के चुनाव में वक्त है। उन्होंने कहा कि मैं उन लोगों के लिए लड़ रही हूं जो अपनी आवाज उठा नहीं पा रहे। मैं देख रही जो पीड़ा में है वह अपनी आवाज नहीं उठा पा रहा। कुचला जा रहा। मैं उन्हीं कर लिए राजनीति में हूं।

मेरी पहली प्रतिज्ञा 40 प्रतिशत महिलाओं को टिकट

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि मेरी पहली प्रतिज्ञा है कि आने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस 40 प्रतिशत टिकट महिलाओं को देगी। महिलाएं अब सक्रिय होकी देश तथा प्रदेश की राजनीति में भागीदार हों। अभी 40 तो शुरुआत है। अभी तो सबकी सहमति 40 पर है। यह सच है कि नेता लोग लोग पत्नियों-बेटियों को चुनाव लड़वाते हैं लेकिन इसमें बुराई नहीं है। महिलाएं पहले चुनाव लड़ती हैं और फिर सक्षम बन जाती हैं। हमें महिला प्रत्याशी मिलेंगी और लड़ेंगी भी। इस बार नहीं तो अगली बार। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव 2019 में जब मैं चुनाव प्रचार करने आई थी तो प्रयागराज में इलाहाबाद विश्वविद्यालय की छात्राओं ने बताया था कि कैसे हॉस्टल में छात्र व छात्राओं के लिए नियम अलग-अलग हैं। तभी मैंने तय किया था कि अब तो हमको महिलाओं को आगे बढ़ाने के लिए कुछ करना चाहिए।

जरूरी हो गया महिलाओं का अधिक प्रतिनिधित्व

प्रियंका गांधी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के टिकट वितरण में महिलाओं को बड़ा प्रतिनिधित्व जरूरी हो गया है। ऐसा उत्तर प्रदेश में होगा होगा तो बाकी जगह भी होगा। अब तो राजनीतिक दल सोचते हैं कि 2000 रुपये और गैस सिलिंडर देकर महिलाओं को खुश किया जा सकता है। महिलाओं को संगठित करना है।। जब हम महिला को देखें तो हमें लगना चाहिए कि वो बहन है। प्रियंका ने महिलाओं को लेकर कहा कि आपकी सुरक्षा कोई नहीं करने वाला। लोग बात करते हैं लेकिन सुरक्षा नहीं करते। वो समय आने पर कुचल देते हैं। आज सत्ता का मतलब ही है लोगों को कुचल देना है। आजकल खुलेआम गाडिय़ों से लोगों को कुचलने का ही सत्ता है। हमको इसे बदलना है। इस माहौल को महिलाएं बदल सकती हैं क्योंकि उनमें सहनशक्ति, करुणा और दृढ़ता है। महिलाएं ही इस माहौल को करुणा के साथ बदल सकती हैं।

क्रिएटिविटी बढ़ा ले विपक्ष

प्रियंका गांधी ने इस दौरान विपक्ष पर भी हमला किया। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कुछ बड़ा करना है तो विपक्षी क्रिएटिविटी बढ़ा लें। जब भी मैं यहां आती हूं तो टूरिज्म या किसी और बारे में बात करते हैं। हमको यह तो सुनते-सुनते दो वर्ष हो गए। यह लोग अब कुछ नया सोचें।

यह भी पढ़ें:प्रियंका की महिलाओं को 40 प्रतिशत टिकट देने की घोषणा पर मायावती का तंज, बोलीं-कहना कुछ व करना कुछ

Edited By: Dharmendra Pandey