लखनऊ, जेएनएन। राजधानी में ट्रैफिक पुलिसकर्मी एसएसपी के ही आदेश का पालन नहीं कर रहे हैं। दो दिन पहले एसएसपी कलानिधि नैथानी ने पुलिसकर्मियों को बूथ के बाहर गाडिय़ों के कागज चेक करने और चालान काटने के निर्देश दिए थे। बावजूद इसके पुलिसकर्मियों ने उनका आदेश नहीं माना। इसपर सोमवार को एसएसपी ने दो सिपाहियों को लाइन हाजिर कर दिया।

एसएसपी के मुताबिक, बूथ के भीतर पुलिसकर्मियों के चालान काटने की शिकायत मिली थी। इसकी जांच एएसपी ट्रैफिक को दी गई थी। एएसपी की रिपोर्ट पर एचसीपी महेश पांडेय, मुख्य आरक्षी मुन्ना खां को लाइन हाजिर कर दिया गया। दोनों वाहनों की चेकिंग कर बूथ के भीतर बैठकर चालान काट रहे थे। गौरतलब है कि एसएसपी ने वाहन चेकिंग में पारदर्शिता लाने के लिए ट्रैफिक बूथों के भीतर गाडिय़ों के चालान करने पर रोक लगा दी थी। इसके साथ ही सभी बूथों में लगे पर्दे हटाने के निर्देश दिए थे।

अभद्रता पर दारोगा लाइन हाजिर 

युवक से अभद्रता के आरोप में एसएसपी ने निगोहां थाने में तैनात दारोगा को लाइन हाजिर कर दिया है। सीओ मोहनलालगंज राजकुमार शुक्ला की रिपोर्ट पर एसएसपी ने कार्रवाई की है। आरोप है कि दारोगा चंद्रवीर सिंह ने स्कूटी से 34 पाउच देशी शराब पकड़ी थी। इस मामले में पीडि़त अभय कांत दीक्षित ने दारोगा से स्कूटी छोडऩे के लिए पैरवी की थी। इसी बात को लेकर दारोगा ने अभद्रता की। यही नहीं सीओ की जांच में सामने आया है कि दारोगा पर एक माह पहले भी शराब पीकर निगोहां टोल टैक्स पर हंगामा करने का आरोप लगा था।

Posted By: Divyansh Rastogi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप