बहराइच, जेएनएन। परिषदीय स्कूलों की शिक्षा के स्तर सुधारने की कोशिशों को जिम्मेदार प्रधान शिक्षिकाएं ही पलीता लगा रही हैं। पाठ योजना तैयार करना तो दूर प्रार्थना सभा कराने में भी दिलचस्पी नहीं ले रही है। चेतावनी के बाद भी बदलाव न लाने पर दो प्रधान शिक्षकों को निलंबित कर दिया गया है। शिक्षक व दो शिक्षामित्रों का वेतन रोका गया है। 

चित्तौरा ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय ताजखोदाई का बीएसए एसके तिवारी ने निरीक्षण किया। जांच में पाठ योजना न ही प्रार्थना सभा व छमाही परीक्षा के बाद पाठ को तैयार नहीं कराया गया था। जांच में पुष्टि होने पर प्रधान शिक्षिका रूपाली सरन श्रीवास्तव को सस्पेंड कर दिया गया है। इसके अलावा तहसील ब्लॉक के पूरे कुबेर पांडेय गांव का प्राइमरी स्कूल बंद होने व शिक्षक व शिक्षामित्रों के गायब होने की शिकायत पर जांच कराई गई। बीइओ की रिपोर्ट पर प्रभारी प्रधान शिक्षक रमेश कुमार का निलंबित किया गया है। सहायक शिक्षक व दो शिक्षामित्रों का वेतन रोका गया है। बीएसए एसके तिवारी ने बताया कि बीइओ से जांच कराई जा रही है। उन्होंने बताया कि पाठ योजना तैयार कर पढ़ाई के निर्देश दिए गए हैं। 

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस