कानपुर (जेएनएन)। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) के 50वें दीक्षा समारोह में इस बार रिकार्ड तोड़ 160 छात्र-छात्राओं को पीएचडी की उपाधि प्रदान की जाएगी। देश को बेहतरीन टेक्नोक्रेट देने वाले इस संस्थान के इतिहास में यह पहली बार है जब इतनी बड़ी संख्या में पीएचडी उपाधि दी जा रही है। पिछले वर्ष यह संख्या 151 थी। गुरुवार को समारोह के पहले दिन के मुख्य अतिथि टाटा संस के चेयरमैन नटराजन चंद्रशेखरन व शुक्रवार के मुख्य अतिथि नेशनल एकेडमी ऑफ इंजीनियरिंग के अध्यक्ष डा.क्लेटन डेनियल मॉट जूनियर होंगे।

दीक्षा समारोह में सात ऐसे छात्रों को भी उपाधि प्रदान की जाएगी, जिन्होंने पांच वर्ष के समय अंतराल में स्नातक व स्नातकोत्तर की पढ़ाई पूरी कर रिकार्ड कायम किया है। इन छात्रों ने चार साल के स्नातक के बाद महज एक वर्ष में स्नातकोत्तर की उपाधि पूरी की है। सबसे बड़ी बात यह है कि स्नातकोत्तर की पढ़ाई उन्होंने दूसरे विभाग से की। इसके अलावा 12 छात्र ऐसे हैं जो स्नातक के बाद एक वर्ष के अंदर दूसरे विभाग के साथ ग्रेजुएट हुए हैं,

जबकि दो माइनर विषयों के साथ स्नातक के 17 छात्रों को भी दोहरी उपाधि दी जाएगी। इसी प्रक्रिया के अंतर्गत एक छात्र ऐसा भी शामिल है जिसने तीन माइनर विषय की पढ़ाई पूरी की है। स्नातक के 170 छात्रों ने दोहरी उपाधि के तहत अपने विषय के अलावा दूसरे आंशिक पाठ्यक्रम की पढ़ाई भी पूरी की है। इसके अलावा इस साल स्नातक के 174 छात्रों ने प्रवीणता प्राप्त की है। दीक्षा समारोह में बीटेक, बीएस, एमटेक, एमबीए, एमडेस व पीएचडी समेत अन्य कोर्सों के 1754 छात्र छात्राओं को डिग्री प्रदान की जाएगी। आइआइटी के निदेशक प्रो. इंद्रानिल मन्ना ने बताया कि आइआइटी पीएचडी व स्नातकोत्तर की पढ़ाई को लेकर भी बेहद गंभीर है। जिसका परिणाम है कि पीएचडी के छात्र-छात्राओं की संख्या लगातार बढ़ रही है।


पारंपरिक वेशभूषा में प्राप्त करेंगे उपाधि :
डीन ऑफ एकेडमिक अफेयर्स प्रो. नीरज मिश्रा ने बताया कि यह पहली बार है जब छात्र-छात्राएं पारंपरिक वेशभूषा में उपाधि प्राप्त करेंगे। दीक्षा समारोह की अलग-अलग समितियों में अलीगढ़ी पायजामा व क्रीम कलर के कुर्ते को शामिल किए जाने पर अपनी सहमति जताई। यह बेहतरीन शुरुआत है।

इन मेधावियों को मिलेंगे अवार्ड

प्रेसीडेंट गोल्ड : संसित पटनायक, बीटेक मैकेनिकल इंजीनियरिंग
डायरेक्टर गोल्ड : नवनीत कश्यप, सिविल इंजीनियरिंग दोहरी उपाधि, पल्लव गोयल, बीएस
रतन स्वरूप स्मृति पुरस्कार : ऋचा अग्रवाल, बीटेक मैटेरियल्स साइंस एंड इंजीनियरिंग
डा. शंकर दयाल शर्मा पदक : विग्नेश्वरन के. एमटेक, एयरोस्पेस इंजीनियरिंग
केडेंस गोल्ड मेडल : राहुल शर्मा, दोहरी उपाधि इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, चंचल, फोटोनिक्स साइंस इंजीनियरिंग
सर्वश्रेष्ठ आलराउंडर छात्रा गोल्ड मेडल : प्रतीति सरकार, एमडेस
 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस