सीतापुर, संवाद सूत्र। पिसावां के एक गांव में बहुत ही दर्दनाक हादसा हुआ। झोपड़ी में सोया युवक जिंदा जल गया। सुबह जले सामान के साथ उसकी जली हुई राख मिली। लखीमपुर जिले का निवासी युवक ठाकुरेपुर गांव के बाहर खेत मे झोपड़ी डालकर रहता था। पुलिस जांच पड़ताल में जुटी है। लखीमपुर में धौरहरा थाना के गांव चिकनाजती निवासी अनिल पुत्र गोपीचंद मिश्रिख कोतवाली के गांव कैथोलिया में रहने वाले मनोज वर्मा के यहां नौकरी करता था।

मनोज ने कुछ दिन पूर्व ठाकुरेपुर गांव में 60 बीघा जमीन खरीदी। खेत की रखवाली का जिम्मा अनिल को दिया था। मृतक अनिल खेत के किनारे लकड़ी की छोटी झोपड़ी बनाकर उसी में रहता था। झोपड़ी में ही छोटा गैस सिलिंडर व अन्य सामान रखा था। रात में पता नहीं क्या हुआ कि अगले दिन सुबह झोपड़ी व युवक जलकर राख में बदल गया। ग्रामीणों ने इस दर्दनाक घटना की जानकारी नजदीकी पुलिस स्टेशन को दी। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। 

खाना बनाते समय आग लगने की आशंकाः वहीं, कुछ ग्रामीण यह आशंका जता रहे हैं कि देर रात खाना बनाते समय आग लग गई होगी। झोपड़ी में ही रजाई व गद्दा, प्लास्टिक की पाइप आदि सामान भी था। झोपड़ी गांव से बाहर खेतों में थी, इसलिए ग्रामीणों को पता नहीं लग पाया। हालांकि, पुलिस घटना की पड़ताल कर रही है। 

तीन माह से फसल की रखवाली कर रहा था युवकः लखीमपुर जिले का रहने वाला मजदूर करीब तीन महीने से खेत की रखवाली कर रहा था। मजदूर के राशन पानी का इंतजाम मनोज करता था। झोपड़ी में रोशनी के लिए मोमबत्ती का प्रयोग करता था। बताया जा रहा है कि मजदूर कभी कभार शराब भी पीता था। सूचना पर पहुंचे एसआइ मनोज कुमार ने बताया कि मृतक के परिवारजन को सूचना दी गई है। जांच की जा रही है।

Edited By: Vikas Mishra