लखनऊ, जेएनएन। ओलिंपिक खेलों के इतिहास में भारत के टोक्यो में अभी तक श्रेष्ठ प्रदर्शन का जोरदार जश्न गुरुवार को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के अटल बिहारी वाजपेयी इकाना इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में मनाया गया। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के साथ ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा तथा भारतीय ओलिंपिक संघ के अध्यक्ष नरेंद्र ध्रुव बत्रा ने खिलाड़ियों सम्मानित किया। तिरंगे का मान बढ़ाने वाले खिलाड़ियों को प्रदेश सरकार ने नगद पुरस्कार देकर सम्मानित किया। गोल्डन ब्वाय नीरज चोपड़ा और हॉकी की दोनो टीमों के साथ 50 से अधिक खिलाड़ियों और प्रशिक्षकों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 42 करोड़ रुपये प्रदान किए।

सीएम योगी आदित्यनाथ इस अवसर पर उत्तर प्रदेश को खेल के क्षेत्र में भी अग्रणी राज्य बनाने का संकल्प लिया। उन्होंने कहा कि खेल प्रतिस्पर्धा को आगे बढ़ाने और खेलो इंडिया के तहत प्रदेश को अग्रणी राज्य के रूप में स्थापित करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है। अब उत्तर प्रदेश सरकार ओलिंपिक खेल, कॉमनवेल्थ गेम्स, एशियन गेम्स, विश्व कप या विश्व चैंपियनशिप में पदक विजेता खिलाड़ियों को राजपत्रित पदों पर सीधी भर्ती प्रदान करेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस अवसर पर यूपी को खेल के क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनाने का संकल्प लिया। उन्होंने खेल को बढ़ावा देने के लिए कई घोषणाएं की। यूपी सरकार कुश्ती व एक अन्य खेल को आगे दस वर्ष तक गोद लेकर उसे बढ़ावा देगी। इसका संपूर्ण वित्त पोषण राज्य सरकार हर स्तर पर करेगी। लखनऊ में कुश्ती एकेडमी बनाई जाएगी।

उत्तर प्रदेश पुलिस में डिप्टी एसपी पद पर ऐसे खिलाड़ियों को सीधी भर्ती होगी। इसके साथ ही मेरठ में खुलने वाली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी का नाम मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी होगा। प्रदेश सरकार ने दस वर्ष तक कुश्ती को गोद लिया है, एक अन्य खेल के बारे में शीघ्र ही फैसला होगा। कुश्ती के लिए लखनऊ में अकादमी खोली जाएगी। जिसमें अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों को तैयार किया जाएगा। सीएम योगी आदित्यनाथ सरकार ने प्रदेश के सभी आवासीय छात्रावास में खिलाड़ियों की डाइट मनी को 250 से बढ़ाकर 375 रुपये प्रतिदिन किया है। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने खेल विभाग में सहायक प्रशिक्षक के 150 पद और प्रशिक्षकों के अन्य पद बढ़ाए जाएंगे। इसके अलावा अनुदान राशि बढ़ाने की भी घोषणा की।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि वह नवाबों के शहर में खेल के नवाबों का स्वागत कर अभिभूत हैं। ओलिंपिक में पहली बार इतने पदक जीतकर देश के खिलाडिय़ों ने हम सभी को गौरवान्वित किया है। कार्यक्रम में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा व खेल एवं युवा कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेंद्र तिवारी, खेल निदेशक डॉ. आरपी सिंह आदि मौजूद रहे। भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी इंटरनेशनल इकाना क्रिकेट स्टेडियम में हजारों युवा खिलाड़ियों के जय घोष के बीच भव्य समारोह में खिलाड़ियों को पुरस्कार दिया गया। सभी पदक विजेताओं के अलावा महिला हॉकी टीम के सभी सदस्यों को भी पचास-पचास लाख रुपये का पुरस्कार मिला। ओलिंपिक में मामूली अंतर से पदक चूकने वाले पहलवान दीपक पुनिया और गोल्फर अदिति अशोक को भी पचास-पचास लाख का पुरस्कार प्रदान किया गया। रजत पदक विजेता मीराबाई चानू और गोल्फर अदिति कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सकीं। यूपी के सभी खिलाड़ियों को ओलिंपिक में प्रतिभाग करने के लिए 25-25 लाख का इनाम अलग से मिला।

Edited By: Dharmendra Pandey