सीतापुर, जागरण कार्यालय। एसपी कार्यालय के पास दो युवकों ने खुद को सीआरपीएफ जवान बताकर ग्राहक के बैग की तलाशी ली और 65 हजार रुपये लेकर भाग गए। टप्पेबाजों के साथ उनका एक अन्य साथी भी था।दिनदहाड़े हुई वारदात की सूचना पर पहुंची पुलिस सीसी कैमरों की फुटेज तलाशने में जुटी है। शहर के पूर्णागिरिनगर निवासी कमलेश शुक्ला एक एजेंसी पर काम करते हैं। गुरुवार सुबह करीब 10:10 बजे वह एजेंंसी के रुपये बैंक में जमा करने बैंक आफ बड़ौदा शाखा आए थे।

बैंक शाखा के गेट पर एक युवक ने उन्हें यह कहकर रोक लिया कि वह सीआरपीएफ का जवान है। साइड में आकर बैग चेक कराओ। उसके दो अन्य साथी भी आ गए। बैग तलाशी के दौरान बदमाशों ने 65 हजार रुपये पार कर दिए और भाग गए। पीड़ित ने मामले की सूचना परिवारजन और पुलिस को दी। एजेंसी मालिक को भी जानकारी दी गई। पुलिस की मौजूदगी में एजेंसी मालिक ने बैग में बचे रुपये की जांच की तो उसमें 65 हजार रुपये कम थे। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

बैंक के अंदर भी गए थे टप्पेबाज : बैंक आफ इंडिया के सीसी कैमरे की फुटेज में दोनों टप्पेबाज बैंक के अंदर भी नजर आए। एक टप्पेबाज बैंक की गैलरी तो एक अंदर चहलकदमी करते दिखा। बैंक से बाहर निकलकर दोनों ने पीड़ित को रोक लिया और अपने साथ साइड में लेकर गए। आइसीआइसीआइ बैंक शाखा के सीसी कैमरे की फुटेज में टप्पेबाजों का तीसरा साथी भी नजर आया। तीनों दो बाइक से आए थे।

एक अन्य युवक के बैग को भी खंगाला : पीड़ित कमलेश ने बताया कि उससे पहले टप्पेबाजों ने एक अन्य युवक को भी खुद को सीआरपीएफ जवान बताकर रोका। बैग की तलाशी ली और उसे जाने दिया। युवक के बाद उनकी तलाशी ली।

टप्पेबाजी हुई है। कोतवाली पुलिस के अलावा स्वाट व सर्विलांस टीम भी लगाई है। जल्द ही राजफाश किया जाएगा।  - आरपी सिंह, एसपी

Edited By: Anurag Gupta