Move to Jagran APP

यूपी के इस जिले में हैं सबसे ज्यादा जर्जर पुल, बिहार की घटनाओं के बाद सीएम योगी ने दिए थे जांच के निर्देश

बिहार में पुल गिरने की घटनाओं के बाद उत्तर प्रदेश सरकार अलर्ट हो गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के पुलों को स्थिति को जांच के लिए लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए थे। इस पर विभाग ने 748 पुलों की जांच पूरी कर ली है। असुरक्षित पुलों की गिनती में कानपुर पहले स्थान पर है। पूरे राज्य में 83 पुल ऐसे मिले हैं जिनकी अवस्था जर्जर है।

By Manoj Kumar Tripathi Edited By: Shivam Yadav Thu, 11 Jul 2024 02:32 AM (IST)
748 पुलों की जांच पूरी, कानपुर में सर्वाधिक 10 निकले असुरक्षित।

राज्य ब्यूरो, लखनऊ। लोक निर्माण विभाग ने 50 वर्ष की आयु पूरी कर चुके प्रदेश के 748 पुलों की जांच पूरी कर ली है। इनमें 83 पुलों को यातायात के लिए असुरक्षित पाया गया है। 

सर्वाधिक असुरक्षित 10 पुल कानपुर क्षेत्र में पाए गए हैं। अभी भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) और प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (पीएमजीएसवाई) के तहत बने मार्गों पर पुलों की जांच बाकी है।

बिहार की घटनाओं के बाद निर्देश जारी

बिहार में लगातार पुलों के गिरने की घटना के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीते दिनों नागरिकों की सुरक्षा के लिए प्रदेश में स्थित 50 वर्ष की आयु पूरी कर चुके सभी पुलों की जांच के निर्देश दिए थे। 

उन्होंने कहा था कि जल्द से जल्द प्रदेश के पुलों की जांच करके असुरक्षित पुलों की सूची तैयार की जाए और वहां पर यातायात बंद किया जाए। इसके बाद लोक निर्माण विभाग ने प्रदेश के 748 पुलों की जांच की है। इनमें लोनिवि 83 पुल असुरक्षित मिले हैं।

कानपुर पहले स्थान पर

सबसे ज्यादा जर्जर पुलों में कानपुर क्षेत्र के 10, सहारनपुर के छह, उन्नाव के चार, झांसी, सीतापुर, गाजीपुर, सोनभद्र व अमेठी तथा मैनपुरी के तीन-तीन, प्रयागराज, आजमगढ़, खीरी, हरदोई, जालौन व सुल्तानपुर तथा लखनऊ के दो-दो पुल जर्जर हाल में पाए गए हैं। लखनऊ-उन्नाव सीमा पर स्थित सई नदी पर बने पुल पर भारी वाहनों का प्रवेश रोकने के लिए स्थानीय प्रशासन को जानकारी दे दी गई है। 

शासन को भेजी जाएगी रिपोर्ट

इस बारे में लोनिवि के प्रमुख अभियंता (विकास) एवं विभागाध्यक्ष जेके बांगा ने बताया कि अभी और पुलों की जांच की जा रही है। इनकी रिपोर्ट शासन को भेजी जाएगी। असुरक्षित पुलों पर यातायात बंद करके इनकी मरम्मत के बाद इन्हें यातायात के लिए खोला जाएगा।

यह भी पढ़ें: Lucknow Metro: लखनऊ में रहने वालों को खुशखबरी… ईस्ट-वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर को मिली मंजूरी, होंगे इतने स्टॉपेज

यह भी पढ़ें: यूपी के इस शहर के लोगों के लिए खुशखबरी, अब अयोध्या जाकर रामलला के दर्शन कर उसी दिन आ सकेंगे वापस; कल से चलेंगी 30 बसें