लखनऊ, जेएनएन। जैसे-जैसे मौसम करवट ले रहा है वैसे-वैसे हवा में प्रदूषण का जहर भी घुल रहा है। राजधानी लखनऊ सहित उत्तर प्रदेश के कई शहरों में हवा प्रदूषित होने लगी है। जल्द इसमें ध्यान न दिया गया तो स्थिति और बिगड़ सकती है। आगरा ही ऐसा शहर है जहां हवा का मिजाज और शहरों से ठीक है। वहां एयर क्वालिटी इंडेक्स 72 है, जो कि संतोषजनक है।

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के बाद यूपी के प्रमुख शहर लखनऊ, मेरठ, मुजफ्फरनगर, नोएडा, गाजियाबाद आदि शहरों में हवा तेजी से प्रदूषित हो रही है। इन शहरों में एयर क्वालिटी इंडेक्स खतरनाक की ओर बढ़ रहा है। एक्यूआइ जब भी 150 से ऊपर पहुंचता है वह नुकसान पहुंचाने लगता है। 

यूं तो प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने वायु प्रदूषण से निपटने के लिए प्रमुख शहरों के लिए अलग-अलग एक्शन प्लान तैयार किया है, पर इस पर मुख्य कार्रवाई जिला प्रशासन व स्थानीय निकायों को करनी है। इन्हें अपने यहां जरूरी उपाय अपनाने हैं। खराब सड़कों को चिह्नित करने के साथ ही जाम लगने वाले स्थानों पर विशेष प्रबंध करने हैं। कूड़ा न जलाया जाए इस पर विशेष ध्यान रखना है, लेकिन इस पर फिलहाल किसी का ध्यान नहीं है।

वहीं, उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सदस्य सचिव आशीष तिवारी कहते हैं कि प्रमुख शहरों की 24 घंटे निगरानी की जा रही है। जहां भी लापरवाही मिल रही है वहां कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। लखनऊ में ही दो दर्जन से अधिक प्रतिष्ठानों को नोटिस दिया गया है।

पराली न जले, समिति रखेगी नजर

पराली जलाने से उत्पन्न होने वाले प्रदूषण की रोकथाम के लिए एनजीटी के निर्देश पर प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने मुख्यालय में एक समिति बना दी है। इसमें पर्यावरण अभियंता सीबी वर्मा, वैज्ञानिक डा. अशोक कुमार व विधि अधिकारी सर्वेश कुमार भास्कर शामिल हैं। पराली से जुड़ी शिकायत समिति को 7839891462 नंबर पर की जा सकती है।

यूपी के शहरों में वायु प्रदूषण (18 अक्टूबर)

शहर                  एक्यूआइ

लखनऊ                216

कानपुर                182

ग्रेटर नोएडा           222

बागपत                 257

गाजियाबाद            270

आगरा                  72

बुलंदशहर             166

नोएडा                  243

हापुड़                   180

मुजफ्फरनगर        198

मुरादाबाद             266

मेरठ                    243

Posted By: Umesh Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप