लखनऊ, जेएनएन। निजी स्कूल के छात्रों को अमानवीय व्यवहार का सामना करना पड़ा। यहां के शिक्षकों ने सिर में बड़े बाल देखकर आक्रोशित हो गए। उन्होंने परिसर में ही नाई को बुलाकर जबरन बाल कटवा दिए। ऐसे में परिजनों ने हंगामा किया। इसमें एक बच्चे को कुछ दिन बाद मुंडन होना था।

ठाकुरगंज निवासी अक्षत काकोरी रोड स्थित निजी स्कूल में पढ़ता है। उसे बुखार था, ऐसे में चार दिन स्कूल नहीं गया। पिता आनंद कुमार के मुताबिक बुधवार को अक्षत स्कूल गया। ऐसे में बगैर सूचना दिए दोपहर में परिसर में नाई बुला लिया गया। साथ ही सभी बच्चों के सामने उसके बाल काट  दिए गए। यह कारनामा प्रिंसिपल, क्लास टीचर व म्यूजिक टीचर की मौजूदगी में हुआ। ऐसे में छात्र सदमें है। गौरतलब है कि छात्र का मार्च में जनेऊ था। वहीं 17 फरवरी को मुंडन था।

परिवार में इसे जनेऊ से पहले 'थावे' की रस्म बोली जाती है। इससे पहले बच्चे के बाल नहीं काटे जा सकते हैं। ऐसे में संस्कारों का भी खंडन कर डाला। वहीं छात्र अक्षत ने कहा कि स्कूल के एक और छात्र आनंद कुमार वर्मा के भी जबरन बाल काट दिए गए। दोनों छात्र रोते रहे, वहीं कोई सुनवाई नहीं हुई। परिजन जब बच्चे को लेने गए तो हंगामा किया। वहीं आनंद ने मामले की शिकायत पुलिस व मानवाधिकार से करने की बात कही।

 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप