लखनऊ [अंशू दीक्षित]। अब एसडीओ (सब डिवीजनल अफसर) की नौकरी आसान नहीं होगी। अगर टर्नअप यानी पोषित क्षेत्र में 75 फीसद से कम लोग बिल जमा करते हैं तो उनका प्रमोशन प्रभावित होगा। इसके निर्देश उत्तर प्रदेश पॉवर कॉरपोरेशन की प्रबंध निदेशक अपर्णा यू ने जारी किए है। 

10 अगस्त को जारी पॉवर कॉरपोरेशन के इस पत्र में उल्लेख है कि जुलाई 2019 के अंत तक जिस भी रिस्ट्रकटर्ड एक्लीरेटेड पॉवर डेवलेपमेंट एंड रिफार्म प्रोग्राम (आरएपीडीआरपी) क्षेत्र के उपखंड का टर्नअप 75 से कम रहेगा, उनके उपखंड अधिकारी को प्रतिकूल प्रविष्टि दी जाए। यह निर्देश सभी डिस्काम को भेजे गए हैं। वहीं, मध्यांचल के अंतर्गत आने वाले जिलों में इससे स्थिति बेहद तनावपूर्ण हैं। अधिकारियों ने बताया कि ऐसे तो आठ से दस एसडीओ बचेंगे और सभी के प्रमोशन रुक जाएंगे।

लखनऊ में सेस द्वितीय में सिर्फ 52 फीसद उपभोक्ता बिल जमा कर रहे है। सेस थ्री में 34 फीसद, चौक में 68 फीसद, ठाकुरगंज में 71,  चिनहट 62 फीसद का ग्राफ है। सिर्फ गोमती नगर, मुंशी पुलिया व राजभवन की स्थिति बेहतर है। लखनऊ के अधिकांश सर्किल के डिवीजन की स्थिति बेहतर नहीं है। वहीं, बदायूं जैसे जिलों में स्थिति बेहद खराब है। यहां सिर्फ 41 फीसद लोग ही बिल जमा कर रहे हैं। वहीं, मध्यांचल एमडी संजय गोयल ने बताया कि आदेश मिला है, उसका पालन कराने के निर्देश दिए गए हैं। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप