रायबरेली, जागरण संवाददाता। अर्द्धवार्षिक परीक्षा के दौरान सरेआम अपमानित किए जाने पर सातवीं के छात्र ने गुरुवार को फांसी लगा ली थी। सुसाइड नोट से सारी बात सामने आईं। इसके मुताबिक शिक्षिका ने भरी क्लास में उसे पहले दो थप्पड़ मारे और फिर सबके सामने अपमानित भी किया। नकल करते पकड़े जाने पर छात्र को दूसरी कापी देने के बजाय उसके साथ अपराधियों जैसा सलूक किया गया। प्रधानाचार्य और शिक्षिका के खिलाफ केस दर्ज करके पुलिस छानबीन कर रही है।

जवाहर विहार कालोनी में रहने वाले शिक्षक राजकुमार का भतीजा यश सिंह मौर्य सेंट पीटर्स स्कूल में कक्षा सात का छात्र था। गुरुवार को सुबह 8:15 बजे वह बायोलाजी की परीक्षा दे रहा था, तभी शिक्षिका मोनिका मार्गो ने छात्र को नकल करते पकड़ लिया था। उन्होंने उसकी कापी में क्रास का निशान लगा दिया। शिक्षिका ने यश को थप्पड़ मारे और अन्य कक्षाओं के शिक्षकों को बुलाकर उसको अपमानित किया।

शिक्षिका यश को पकड़ कर प्रधानाचार्य के आफिस में ले गई। वहां पर भी छात्र से माफीनामा लिखवाया गया। इतना सब होने के बाद छात्र का मनोबल टूट गया, वह रोते हुए वापस अपनी कक्षा में आया और प्रश्नपत्र फाड़ दिया। वह परीक्षा के दौरान चुपचाप बैठा रहा। 10:15 बजे छुट्टी होने पर यश वैन में बैठ गया। घर आकर उसने तीसरी मंजिल पर बने कमरे में जाकर फांसी लगा ली। दोपहर में जब उसके चाचा घर लौटकर आए और यश को बुलाने के लिए कहा, तब उसके आत्महत्या करने की बात पता चली।

... एक मौका तो देना चाहिए था

छात्र यश पढ़ने में बहुत तेज था। उसने बायोलाजी के पेपर में नकल की पर्ची क्यों बनाई, यह बात अभी तक कोई समझ नहीं पाया है। उसके कमरे में सुसाइड नोट मिला, जिसमें उसने लिखा कि मैंने पेपर में चीटिंग की। बायोलाजी के पेपर में। आइ एम गोइंग टू डाइ टुडे। डोंट ब्लेम माई अंकल एंड आंटी, फादर एंड मदर। मतलब, मैं आज आत्महत्या करने जा रहा हूं। इसके लिए मेरे चाचा-चाची, पिता-माता को दोष मत देना। गलती करने के बाद किसी को एक मौका जरूर देना चाहिए।

आइ एम क्राइंग फार माई मिस्टेक, बट आई एम फीलिंग वेरी शेम आन मी। माई क्लासमेट आल्सो शेम आन मी। आइ एम नाट एबल टू कंट्रोल माई माइंड एंड कमिंग वेरी बैड थाट। मतलब, मैं अपनी गलती पर बहुत रोया। मैं शर्मिंदा था। मेरे सहपाठियों ने भी मुझे शेम-शेम बोला। मेरा दिमाग मेरे वश में नहीं है और बुरे ख्याल आ रहे हैं। मैं अपने माता-पिता, भाई-बहन और स्कूल के सभी दोस्तों व शिक्षकों से सारी बोलता हूं।

प्रधानाचार्य व शिक्षिका पर एफआइआर दर्ज

छात्र यश के पिता राजीव कुमार की तहरीर पर मिल एरिया थाने में सेंट पीटर्स स्कूल के प्रधानाचार्य रजनाई डिसूजा और शिक्षिका मोनिका मार्गो के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला पंजीकृत किया गया है। छात्र यश की मृत्यु होने के कारण शुक्रवार को स्कूल में अवकाश घोषित कर दिया गया, इसलिए पुलिस आरोपितों से पूछताछ नहीं कर सकी।

स्कूल में छात्र को पीटा और अपमानित किया गया, इस बात की गहनता से जांच की जा रही है। स्कूल में ऐसा हुआ है तो ये कानूनन अपराध है। एफआइआर दर्ज कर ली गई है। विवेचना की जा रही है।   -आलोक प्रियदर्शी, पुलिस अधीक्षक

Edited By: Anurag Gupta