लखनऊ, जागरण संवाददाता। अमीनाबाद दवा मार्केट में बुधवार को एसटीएफ, अमीनाबाद पुलिस और ड्रग विभाग की संयुक्त टीम ने छापेमारी की। छापेमारी के दौरान कृष्णा फार्मा के नाम से संचालित फर्म से भारी मात्रा में डाक्टर गैस नामक ब्रांडेंड कंपनी की सीरप बरामद की। टीम ने फर्म के मालिक कुशल अग्र्रवाल को गिरफ्तार कर लिया है।

77 पेटियों में करीब पांच लाख का माल बरामद : सीओ एसटीएफ दीपक कुमार सिंह ने बताया कि इस मामले में डाक्टर गैस कंपनी के निदेशक ने शिकायत की थी। इसके बाद बुधवार शाम सहायक आयुक्त औषधि मनोज कुमार, ड्रग इंस्पेक्टर ब्रजेश कुमार, माधुरी सिंह, एसटीएफ इंस्पेक्टर हेमंत कुमार, अमीनाबाद इंस्पेक्टर आलोक कुमार राय की टीम तैयार की गई। टीम शाम को दवा मार्केट पहुंची और छापेमारी की। टीम को कृष्णा फार्मा के नाम से संचालित फर्म में डाक्टर गैस के नाम से सीपर मिली। फर्म से 77 पेटियां कीमत करीब पांच लाख रुपये बरामद की गई और संचालक कुशल अग्र्रवाल को गिरफ्तार कर लिया गया।

रुड़की की एप्पल के नाम से संचालित दवा फैक्ट्री में बनवाते थे नकली सीरप : एसटीएफ इंस्पेक्टर हेमंत कुमार और अमीनाबाद इंस्पेक्टर आलोक कुमार राय ने बताया कि कुशल और उसके गिरोह के लोग उत्तराखंड के रुड़की में स्थित एप्पल नाम से संचालित दवा फैक्ट्री में डाक्टर गैस के नाम से नकली सीरप बनवाते थे। इसके बाद इसकी गोंडा, बाराबंकी, फैजाबाद, सीतापुर समेत अन्य जनपदों में सप्लाई करते थे। गिरोह का एक सदस्य गोंडा का रहने वाला है। उससे मोबाइल वाट्सएप पर कुशल की चैटिंग भी मिली है। रुड़की स्थित फैक्ट्री के लोगों की तलाश करने के साथ ही गोंडा के युवक की तलाश में छापेमारी की जा रही है।

सीरप की ब्रांडेड कंपनी जैसी है हूबहू पैकिंग : सहायक आयुक्त औषधि मनोज कुमार ने बताया कि गिरोह के लोग बहुत ही शातिर हैं। जैसी पैकिंग ब्रांडेड कंपनी की है वैसी ही नकली की भी पैकेजिंग करते थे। कुशल और उसके गिरोह से जुड़े लोग कहां पर पैकेजिंग के डब्बों की प्रिंटिंग कराते थे, उस प्रिंटिंग प्रेस की भी तलाश जारी है। उन्होंने बताया कि ड्रग विभाग की टीम यह भी पता लगा रही है कि कुशल मेडिसिन मार्केट में और किन किन व्यापारियों को सीरप की सप्लाई देता था। कौन कौन से लोग उसके संपर्क में हैं। कुशल का मोबाइल भी कब्जे में ले लिया गया है।

Edited By: Anurag Gupta