लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं की हिंसा के विरोध में भारतीय जनता पार्टी बुधवार को पूरे प्रदेश में धरना दें रहे हैं। मंडल व बूथ स्तर पर कोविड प्रोटोकाल व लाकडाउन का ध्यान रखते हुए भाजपाई अपने- अपने घरों पर विरोध जता रहे हैं। प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह भी अपने आवास पर धरने पर बैठे हैं। सभी पार्टी पदाधिकारियों व जनप्रतिनिधियों से धरना देने को कहा गया है। 

प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने आरोप लगाया कि कोरोना महामारी में जहां मानव एक दूसरे की जान बचाने के लिए प्रयासरत है, वहीं पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के संरक्षण में लगातार हिंसा, तोड़फोड़, आगजनी और बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या की जा रही हैं। भाजपाइयों के घरों व प्रतिष्ठानों तथा पार्टी कार्यालयों को चुन-चुनकर निशाना बनाया जा रहा है। टीएमसी कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी लोकतंत्र के नाम पर कलंक है। जिसके विरोध में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के निर्देशानुसार करीब एक घंटे के धरने के दौरान कार्यकर्ताओं की संख्या एक बार में 20 से अधिक नहीं होगी।

सेवा कार्य प्रभावित न हों : प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश, क्षेत्र, जिला व मंडल पदाधिकारियों सहित जनप्रतिनिधि अपने-अपने घरों पर ममता सरकार के संरक्षण में हो रही हिंसा के खिलाफ आक्रोश व्यक्त करेंगे। उन्होंने आगाह किया कि सेवा ही संगठन अभियान-2 के तहत भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा कोविड पीड़ितों के लिए किए जा रहे सेवा कार्य इस धरने से प्रभावित न हों, इसका विशेष ध्यान रखा जाए।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021