लखनऊ (जेएनएन)। राज्यसभा सदस्य नरेश अग्रवाल के समाजवादी पार्टी से नाता तोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने से अब उनके समर्थकों का समाजवादी पार्टी से मोहभंग हो रहा है। आज समाजवादी व्यापार सभा के प्रदेश अध्यक्ष आनन्द अग्रवाल ने पूरी कार्यकारिणी के साथ पार्टी से इस्तीफा दे दिया।

आनंद अग्रवाल ने कहा कि हमने तो सपा-बसपा के सिद्धांतहीन गठबंधन और नरेश अग्रवाल का राज्यसभा से टिकट काटे जाने के कारण ऐसा किया है। उन्होंने अखिलेश यादव पर हमेशा से वैश्य समाज की उपेक्षा करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि जब तक नरेश अग्रवाल समाजवादी पार्टी में थे, तब तक वैश्य का समाजवादी पार्टी में सम्मान था।

वह जमकर वैश्य समाज के लिए लड़ते थे। आनंद अग्रवाल ने कहा कि जब नरेश अग्रवाल भाजपा में शामिल हो गए हैं तो हम भी भाजपा में जाएंगे। भाजपा तो हमेशा से वैश्य समाज का हित करने वाली पार्टी रही है। उत्तर प्रदेश के साथ ही केंद्र सरकार में भी वैश्य समाज से कई मंत्री बनाये गए हैं। 

By Dharmendra Pandey