लखनऊ, जेएनएन। किन्नर कल्याण बोर्ड की उपाध्यक्ष सोनम चिश्ती ने मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। उन्हें नवगठित बोर्ड के क्रियाकलापों, आगामी कार्ययोजना के बारे में बताया। साथ ही भाजपा के लिए चुनाव प्रचार अभियान शुरू करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से आशीर्वाद लिया।

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गठित किन्नर कल्याण बोर्ड में लखनऊ की सोनम चिश्ती को उपाध्यक्ष बनाया था। उपाध्यक्ष बनने के बाद सोनम ने भाजपा को फिर से सत्ता में लौटने का दावा किया था। उन्होंने समाजवादी पार्टी पर भी जमकर निशाना साधा। उन्होंने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को श्राप तक दे डाला था। कहा कि अखिलेश को मेरा श्राप है और वो अपने जीवन में कभी भी प्रदेश सत्ता में नहीं आएंगे। सोनम कुछ महीने पहले ही समाजवादी पार्टी छोड़कर भाजपा में शामिल हुईं थीं।

यूपी सरकार ने नौ अगस्त को किन्नरों के कल्याण के लिए समाज कल्याण मंत्री की अध्यक्षता में 23 सदस्यीय किन्नर कल्याण बोर्ड गठित किया था। इसमें उपाध्यक्ष व पांच सदस्य किन्नर रखे जाने थे। प्रदेश सरकार ने उपाध्यक्ष व चार सदस्यों को नामित कर दिया है। यह बोर्ड किन्नरों की आवश्यकताओं, मुद्दों व समस्याओं पर काम करते हुए नीति व संस्थागत सुधारों के लिए सरकार को सुझाव देगा। प्रदेश में तकरीबन डेढ़ लाख किन्नर हैं।

किन्नर कल्याण बोर्ड का काम किन्नर नीति को विभागों में लागू करने के साथ ही किन्नरों का शैक्षिक, सामाजिक, आर्थिक विकास, समानता व समता के लिए दिशा-निर्देश जारी करना है। जिला स्तरीय समिति या किन्नर सहायता इकाई के प्रकरणों पर भी बोर्ड निर्णय करेगा। जिलों में भी डीएम की अध्यक्षता में भी 13 सदस्यीय समिति बनाई गई है। यह समिति प्रतिमाह बैठक करेगी। इसमें एसएसपी, सीएमओ, एसीएमओ, निकाय अध्यक्ष, बीएसए, जिला प्रोबेशन अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, डीएम द्वारा नामित मनोवैज्ञानिक व किन्नर समुदाय के दो प्रतिनिधि सदस्य और जिला समाज कल्याण अधिकारी सदस्य सचिव होंगे। किन्नरों को पहचान पत्र मिलेंगे। किन्नरों को मनोवैज्ञानिक परामर्श के लिए केंद्र भी बनेंगे।

Edited By: Umesh Tiwari