जागरण टीम, बलरामपुर। जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्रों में 24 घंटे के भीतर हुई तीन हत्याओं से जिलेवासी सहम गए हैं। देहात कोतवाली के बेला गांव में मजरे नौशहरा निवासी सहजराम यादव का शव रविवार की भोर कालीमाता मंदिर के पास पड़ा मिला। मृतक की पत्नी कृष्णवती की तहरीर पर पुलिस ने गांव निवासी कुतुब अली व मुख्तार के विरुद्ध हत्या का केस दर्ज किया है।

उधर, हर्रैया के उदईपुर खैरहनिया गांव निवासी जाकिर का शव खरझार नाला के किनारे नीम के पेड़ की डाल से फंदे के सहारे लटका मिला। परिवारजन ने हत्या की आशंका जताई है। शनिवार को ललिया के पाठकपुरवा गांव निवासिनी 55 वर्षीया बड़का का शव देहात कोतवाली के सेमरहना स्थित गन्ने के खेत में पड़ा मिला। उसके सिर से खून निकल रहा था। जेवरात गायब थे। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ लूटपाट व हत्या का मुकदमा दर्ज किया है।

देहात कोतवाली के नौशहरा बेला निवासिनी कृष्णावती ने बताया कि उसके पति सहजराम की गांव के ही कुतुब अली व मुख्तार से जमीन विवाद को लेकर पुरानी रंजिश थी। शनिवार की शाम कुतुब अली व मुख्तार ने सहजराम को जान से मारने की धमकी दी। रात में सहजराम अचानक बरामदे से गायब हो गया। उसकी हत्या कर शव को कालीथान मंदिर के बगल फेंक दिया गया। उसकी आंखें फोड़ दी गईं थीं। बाएं हाथ की हड्डी भी टूटी थी। सीने पर खरोच के निशान हैं।

सीओ राधारमण सिंह व थाना देहात के प्रभारी निरीक्षक विद्यासागर वर्मा ने घटना स्थल का जायजा लिया। हर्रैया थाना के उदईपुर खैरहनिया निवासी साबिर अली ने बताया कि उसका पुत्र जाकिर शनिवार को रात साढ़े आठ बजे गांव में पान मसाला खाने की बात कहकर घर से निकला था। देर रात तक न लौटने पर उसकी खोजबीन की गई, लेकिन कुछ पता नहीं चल सका। रविवार सुबह साढ़े पांच बजे गांव के लोग शौच गए तो गांव के पश्चिम खरझार नाला किनारे नीम के पेड़ की साख पर उसका शव लटकता देखा।

प्रभारी निरीक्षक प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि शव को कब्जे में लेकर छानबीन की जा रही है। ललिया के सेमरहना गांव निवासी शीतला ने बताया कि उसका खेत करीब तीन किलोमीटर दूर पाठकपुरवा गांव के निकट है। उसकी मां बड़का प्रतिदिन सुबह सात बजे फसलों की रखवाली करने खेत चली जाती थी। खेत में इस समय गन्ना, धान बेड़न, मक्का, उड़द आदि की फसल लगी है। शनिवार को भी वह फसलों की रखवाली के लिए गई थी। शीतला के मुताबिक उसका 12 वर्षीय पुत्र अपनी दादी बड़का के लिए खेत में खाना लेकर गया था।

खेत में जब वह नहीं मिली तो उसने खोजबीन शुरू की। गन्ना खेत किनारे बड़का मृत अवस्था में पड़ी मिली। उनके सिर से खून निकल रहा था। बेटे की सूचना पर शीतला भी खेत पहुंच गया। घटना की जानकारी प्रधान चौधरी अजीत वर्मा को दी। मौके पर काफी रक्त बिखरा पड़ा था। बड़का के सिर में छह गंभीर वार किए गए थे। उनकी कान का झाला, नाक की नथुनी व पायल गायब थी। शीतला ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मां के हत्या व लूटपाट की तहरीर थाना देहात में दी है। प्रभारी निरीक्षक विद्यासागर वर्मा ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है। जल्द ही आरोपित सलाखों के पीछे होगा। उपरोक्त सभी घटनाओं में शामिल आरोपितों को पकड़ने के लिए पुलिस की टीमें लगा दी गई हैं। 

Edited By: Vikas Mishra