लखनऊ, जेएनएन। जिन स्कूल बस, वैन में बिठाकर आप अपने जिगर के टुकड़े, लाडली को पढऩे के लिए भेजते हैं वह खतरे से भरे चलते-फिर डिब्बे से अधिक नहीं। रविवार को परिवहन विभाग ने स्कूली बस, वैन की फिटनेस परखी तो तो सभी वाहन मानकों पर फेल हो गए। सीसीटीवी कैमरे मिले न अलार्म। मेडिकल किट एक्सपायर्ड थी अग्निशमन यंत्र भी बेहद पुराने। अब ऐसे वाहनों के मालिकों को नोटिस भेजा जाएगा।

रविवार को ट्रांसपोर्टनगर आरटीओ कार्यालय के मैदान में स्कूल बस और वैन को परीक्षण के लिए बुलाया गया था। इन वाहनों में एक-एक कर हर मानक के पूरा होने में कमी मिली। पर चेकिंग करने वाले अफसरों को कुछ भी नजर नहीं आया। शाम चार बजे तक चलने वाली जांच दोपहर दो बजे ही खत्म हो गई। क्योंकि, परीक्षण अधिकारी को शादी में शामिल होने जाना था।

भेजे जाएंगे नोटिस और कटेगा चालान

स्कूल वैन और बस की फिटनेस का पहला चरण रविवार को हुआ। अनफिट मिले वाहनों के मालिकों को नोटिस भेजा जाएगा। फिटनेस मानक पूरे नहीं कराने पर चालान कटेगा। अब 23 फरवरी को फिर फिटनेस जांची जाएगी।

नंबर इन्फो

  • 125 वाहनों की जांच की गई
  • 26 बिंदुओं पर जांच की बस की फिटनेस
  • 14 मानकों को वैन की जांच में परखा गया

क्या कहते हैं जिम्मेदार 

आरटीओ कार्यालय के आरआई संजय कुमार गुप्ता ने बताया कि स्कूली वाहनों के फिटनेस लिस्ट के अनुसार जो वाहन फेल हुए है। उन्हें नोटिस देंगे। यही नहीं फिटनेस प्रमाण पत्र नहीं मिलेगा। चेकिंग में पकड़े जाने पर चालान कटेगा। मानक पूरे न होने तक यह कार्रवाई चलती रहेगी।

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस