लखनऊ, जेएनएन। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आह्वान पर 12 जनवरी को स्वामी विवेकानन्द जी की जयंती पर सपाइयों ने शहीद स्थल काकोरी से जनेश्वर मिश्र पार्क तक समाजवादी साइकिल यात्रा निकाली। 30 किलोमीटर लम्बी इस यात्रा में एनपीआर नहीं, रोजगार चाहिए, सस्ती शिक्षा हो और छात्रों पर अत्याचार बंद करो के नारे लगाते हजारों साइकिल सवार शामिल थे। साइकिल यात्रा सुबह दस बजे शहीद स्थल काकोरी से चली जो दोपहर दो बजे जनेश्वर मिश्र पार्क पहुंची। 

इस मौके पर अहमद हसन ने कहा कि पूर्व सीएम अखिलेश यादव ही अकेले ऐसे नेता हैं जो भाजपा की साम्प्रदायिक नीतियों का सामना कर सकते है। उन्होंने कहा कि नौजवान ही आगे 2022 में समाजवादी पार्टी की सरकार बनाएंगे। सपा के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी ने नौजवानों को सफल साइकिल यात्रा पर बधाई देते हुए कहा कि पिछले दिनों भाजपा की केंद्र सरकार ने जो फैसले किए हैं उससे देश भर में आक्रोश है। प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने कहा कि भाजपा धर्म के नाम पर नफरत फैला रही है। अब युवा ही प्रदेश में नया बदलाव लाएगी। एनपीआर से जनता में असंतोष है। वहीं साइकिल यात्रा में प्रमुख रूप से सुनील सिंह साजन, दिग्विजय सिंह देव, अरविन्द गिरि, विकास यादव, रामकरन निर्मल, प्रदीप तिवारी, अनीस राजा, मोहम्मद एबाद, बृजेश यादव, अनुराग यादव, विजय सिंह, राम सागर यादव, जयसिंह जयंत, फाकिर सिद्दीकी, सुशील दीक्षित, अवनीश यादव, पूजा शुक्ला, अपूर्वा वर्मा, पूजा यादव, अनिल यादव सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस