लखनऊ, जेएनएन। राजधानी में मंगलवार सुबह सिविल अस्‍पताल के गेट के सामने लूट हुई। खास बात यह थी कि लूट करने वाले ने फिल्‍मी अंदाज में खुद को सीबीआई ऑफिसर बताया। वहीं पीछे से आए बदमाशों ने गर्दन पर वार करके पैसों भरा बैग लूट लिया। वहीं इंजीनियर घंटों तक एफआइआर दर्ज करने के लिए भटकता रहा।  

यह है मामला 

मामला राजधानी के पॉश इलाके पार्क रोड में सिविल अस्‍पताल के गेट का है। महोबा जिला पंचायत में तैनात इंजीनियर कमलेश्वर नारायण गुप्ता 60 हजार रुपये एटीएम और जरूरी कागज थे। जिसे लेकर वो एक होटल में जा रहे थे। तभी सामने से एक आदमी आया और खुद को सीबीआई का अधिकारी बताने लगा। इतने में पीछे से किसी ने उनकी गर्दन पर वार किया और वो जमीन पर गिर गए। इसी बीच तीनों बैग लेकर फरार हो गए। 

पीछे खड़े साहब आपको बुला रहे हैं

पीडि़त कमलेश्वर ने बताया कि  सरकारी काम से वह लखनऊ आए थे। मंगलवार तड़के वह बस से गोल्फ क्लब चौराहे पर उतरे। वहां से बैग लेकर पैदल अशोक मार्ग स्थित होटल रामकृष्णा जा रहे थे। इस बीच सिविल हॉस्पिटल के मुख्य गेट पर पीछे से एक युवक आया और उसने कहा कि भाई साहब पीछे साहब खड़े हैं आपको बुला रहे हैं। मुड़कर पीछे देखा तो कुछ दूरी पर एक व्यक्ति खड़ा था। वहां पहुंचा तो उस व्यक्ति ने एक कार्ड दिखाते हुए कहा कि वह सीबीआइ अधिकारी है और पूछा बैग में क्या लेकर जा रहे हो। तभी पीछे से एक और युवक पहुंचा और उसने हाथ से गर्दन पर दो वार किए, जिससे वह गिर गया। इस बीच तीनों बैग उठाकर दो बाइकों से भाग निकले।  

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Divyansh Rastogi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप