लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव से पहले बहुजन समाज पार्टी व समाजवादी पार्टी के बीच गठबंधन का असर बिहार तक होने लगा है। बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव आज रात से दो दिन के लखनऊ दौरे पर रहेंगे। तेजस्वी 15 जनवरी को बसपा मुखिया मायावती को उनके जन्मदिन पर बधाई भी देंगे।

राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के छोटे पुत्र तेजस्वी यादव भी अब उत्तर प्रदेश की राजनीति के बदले परिवेश में रुचि ले रहे हैं। सपा-बसपा के गठबंधन से उत्तर प्रदेश में सियासी हलचल तेज हो गई है। इसी क्रम में तेजस्वी यादव भी इनके गठबंधन को समर्थन देने लखनऊ आ रहे हैं।

तेजस्वी यादव आज रात लखनऊ पहुंच रहे हैं। कल उनका समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से भेंट करने का कार्यक्रम है। इसके बाद 15 जनवरी की सुबह वह बसपा मुखिया मायावती के आवास पर जाकर उनको जन्मदिन की बधाई देंगे। उनका दोनों नेताओं से अलग-अलग भेंट करने का कार्यक्रम है।

बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने उत्तरप्रदेश में सपा और बसपा के बीच हुए गठबंधन पर खुशी जताते हुए कहा है कि भाजपा अब तैयार रहे, उनके हार की शुरुआत अब उत्तर प्रदेश तथा बिहार से हो चुकी है। तेजस्वी ने सपा-बसपा के गठबंधन की सराहना की और कहा कि इससे यूपी में एनडीए का सफाया तय है। इतना ही नहीं, तेजस्वी ने ट्वीट भी किया है औज कहा है कि यूपी-बिहार से भाजपा का सफाया तय है। तेजस्वी यादव ने कहा कि यूपी में माया और अखिलेश का गठबंधन अटूट है, बिहार जैसे हालात वहां नहीं होंगे। राजद सुप्रीमो लालू यादव भी चाहते थे कि वहां यह गठबंधन हो। तेजस्वी ने कहा कि यह गठबंधन नेहरू, कर्पूरी, लोहिया के विचारों का गठबंधन है और इस गठबंधन से भाजपा की हार होगी।

गठबंधन से उत्साहित तेजस्वी यादव ने कहा था कि सपा-बसपा के बीच का गठबंधन सफल और परखा हुआ है। उपचुनावों में अखिलेश यादव व मायावती ने साबित किया है कि बिना कांग्रेस के भी वह भाजपा का रास्ता रोक सकते हैं। आज यह तय हो गया कि बिहार और यूपी में भाजपा का खाता भी नहीं खुलने वाला है। 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस