लखनऊ, जेएनएन। समाजवादी पार्टी (एसपी) के संरक्षक मुलायम सिंह यादव और बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) की मुखिया मायावती के बीच की दुश्मनी जगजाहिर है। वर्ष 1995 में हुए लखनऊ गेस्ट हाउस कांड के बाद से आज तक दोनों के रिश्ते सामान्य नहीं हो पाए हैं। इसके बावजूद मुलायम सिंह के पुत्र व सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने वर्ष 2019 के लोक सभा चुनाव में बसपा के साथ गठबंधन किया था। हालांकि चुनाव में करारी हार के बाद दोनों दलों का गठबंधन टूट गया और 2022 के विधानसभा चुनाव अलग-अलग लड़ रहे हैं। अखिलेश अक्सर मायावती को बुआ कहकर भी संबोधित करते हैं। 

इस चुनाव महौल में जब चर्चा नेताओं की हो रही है तो इनके अतीत के किस्से भी दिलचस्ब हैं। एक बार की बात है जब मुलायम सिंह यादव के बेटे सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और उनकी पत्नी डिंपल यादव के लिए मायावती ने अपने सुरक्षाकर्मी को फटकार लग दी थी। 

दरअसल यह घटना उस वक्त की है तब सांसद बनने से पहले अखिलेश और डिंपल एक साथ लखनऊ से दिल्ली जा रहे थे। जिस फ्लाइट में वे दोनों थे उसी में मायावती भी दिल्ली जाने के लिए चढ़ीं। मायावती को देखते ही अखिलेश यादव ने उन्हें हाथ जोड़कर प्रणाम किया। मायावती ने अखिलेश और डिंपल को पहचाना नहीं और बिना कुछ कहे आगे बढ़ गईं।

दिल्ली उतरने के बाद बसपा प्रमुख मायावती ने अपने मुख्य सुरक्षाकर्मी पद्म सिंह से पूछा कि वह दंपती कौन था जिसने मुझे प्रणाम किया था। पद्म सिंह ने जवाब दिया कि वह मुलायम सिंह के बेटे और बहू थे। पद्म सिंह ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उतना सुनते ही मायावती भड़क गईं और उनसे बोलने लगीं कि आपने मुझे बताया क्यों नहीं। पता नहीं वे दोनों मेरे बारे में क्या सोच रहे होंगे। आगे से इस प्रकार की गलती नहीं होनी चाहिए।

Edited By: Umesh Tiwari