लखनऊ (जेएनएन)। औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने सोमवार को यहां बताया कि राज्य सरकार ने इन्वेस्टर्स समिट के दौरान एक लाख करोड़ रुपये के निवेश का लक्ष्य रखा था, लेकिन समिट से पहले ही 70 फीसदी लक्ष्य पूरा हो चुका है। नामी गिरामी 138 निवेशकों से अभी तक 70 हजार करोड़ रुपये से अधिक निवेश के प्रस्ताव मिल चुके हैं। वहीं 112 निवेशकों ने अनुबंध (एमओयू) करने के बारे में सहमति भी दे दी है, जिनमें से 78 पर सरकार और उद्यमियों बीच करार भी हो चुका है।

उन्होंने बताया कि अब तक 5000 से अधिक देशी व विदेशी निवेशक इन्वेस्टर्स समिट में हिस्सा लेने के लिए पंजीकरण करा चुके हैं। समिट में नीदरलैंड, जापान, चेक गणराज्य, फिनलैंड, स्लोवाकिया और मॉरीशस पार्टनर कंट्री के रुप में शामिल हो रहे हैं। समिट का शुभारम्भ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और समापन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद करेंगे। उन्होंने बताया कि 21 फरवरी को औद्योगिक विकास से संबंधित आठ सत्र और 22 फरवरी को निवेशकों के वार्तालाप सहित आठ सत्र आयोजित किये जाएंगे। समिट के पहले दिन के सत्रों के मुख्य विषय इस प्रकार रखे गए हैं, जिनमें केंद्र और राज्य सरकार के संबंधित मंत्री शिरकत करेंगे।

उन्होंने बताया कि यूपी में औद्योगिक विकास की प्रगति को केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और वह स्वयं संबोधित करेंगे। सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग के क्लस्टर और एक्सीलेंस के विकास पर आयोजित सत्र को केंद्रीय एमएसएमई राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) गिरिराज सिंह व प्रदेश के एमएसएमई मंत्री सत्यदेव पचौरी संबोधित करेंगे।प्रदेश में इलेक्ट्रानिक सेक्टर का उदय विषयक सत्र को केंद्रीय संचार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) मनोज सिन्हा और सूबे के आइटी राज्य मंत्री मोहसिन रजा, एग्री फूड प्रोसेसिंग और डेयरी सेक्टर पर आधारित सत्र को केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर बादल और प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही संबोधित करेंगे।

अक्षय उर्जा की असीमित सम्भावनाओं संबंधी सत्र को केंद्रीय उर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) आरके सिंह व प्रदेश के अतिरिक्त उर्जा मंत्री बृजेश पाठक, हैंडलूम व टेक्सटाइल्स सत्र को केंद्रीय वस्त्र उद्योग मंत्री स्मृति ईरानी व सत्यदेव पचौरी, फार्मास्यूटिकलऔर बायोटेक्नोलाजी के सत्र को केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल और प्रदेश के विज्ञान प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री मोहसिन रजा तथा पर्यटन एवं सांस्कृतिक विरासत संबंधी सत्र में केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और प्रदेश की पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी हिस्सा लेंगी।

22 फरवरी को केंद्रीय आइटी मंत्री रविशंकर प्रसाद व प्रदेश के आइटी राज्य मंत्री मोहसिन रजा यूपूी में आइटी व आइटीईएस, केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली और प्रदेश के वित्तमंत्री राजेश अग्रवाल सभी के लिए बैंक विषयक सत्र को संबोधित करेंगे। केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री सीआर चौधरी व सत्यदेव पचौरी चर्म उद्योग के विकास पर आधारित सत्र को सम्बोधित करेंगे। केंद्रीय कौशल विकास मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान व प्रदेश के व्यावसायिक शिक्षा मंत्री चेतन चौहान कौशल विकास, केंद्रीय पर्यावरणएवं वन राज्य मंत्री महेश शर्मा और प्रदेश के वन एवं पर्यावरण मंत्री दारा सिंह चैहान बिजनेस टू गवर्नमेंट पर आधारित सत्र में हिस्सा लेंगे।

22 फरवरी को स्टार्टअप में सबसे बड़ी सम्भावना विषयक सत्र को केंद्रीय युवा मामलों के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा. राज्यवर्धन सिंह राठौर और मोहसिन रजा, नागरिक उड्डयन के उभरते अवसरों के बारे में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू व मोहसिन रजा अपने विचार रखेंगे। एनआरआइ सत्र को विभागीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वाती सिंह और केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी विस्तार से प्रकाश डालेंगी।  

Posted By: Ashish Mishra