लखनऊ, जेएनएन। ठंड के मौसम में सर्दी-जुकाम से अगर आप परेशान हैं तो रात में सोते समय दूध में हल्दी व सोंठ मिलाकर पिए। वहीं दिन भर में दो बार आधा कप पानी व दूध में तुलसी, अदरक, काली मिर्च और अजवायन डालकर उसे उबालकर काढ़ा बनाकर सेवन करें बहुत आराम मिलेगा। यह जानकारी राष्ट्रीय वनस्पति अनुसंधान संस्थान (एनबीआरआइ) के प्रधान वैज्ञानिक डॉ. संजीव ओझा ने दी। वह बुधवार को दैनिक जागरण कार्यालय में आयोजित प्रश्न पहर कार्यक्रम में मौजूद थे। उन्होंने बताया कि छोटे बच्चों को सर्दी-जुकाम होने पर जायफल व छोटी पिपली घिसकर दूध के साथ चटा दें तो राहत मिलेगी।

प्रश्न : मेरे पेट में मरोड़ होती और साफ पखाना नहीं होता? प्रकाश सक्सेना जानकीपुरम व तीरथ राज शुक्ला कुंडा प्रतापगढ़
उत्तर : आप सोंठ, पीपल, काली मिर्च, सफेद जीरा, स्याह जीरा, काला नमक व सेंधा नमक मिलाकर चूर्ण बना लें और इसका सेवन करें। दिन में मठ्ठा पिए। तकलीफ दूर होगी।
प्रश्न : मेरे बेटे को सर्दी -जुकाम रहता है और मुंह में छाले निकलते हैं? ऊषा वर्मा, बंगला बाजार
उत्तर : बेटे को रात में दूध में हल्दी व सोंठ मिलाकर पिलाएं इससे सर्दी-जुकाम दूर हो जाएगा। वहीं अनुलोम-विलोम व कपालभांति भी करवाएं। मुंह में छाले निकलते हैं तो अमरूद की पत्ती को चबाएं। इससे भी ठीक नहीं हो रहा तो अमरूद की पत्ती को पानी में उबाल लें और फिर उस पानी में फिटकरी मिलाकर गरारा करें।
प्रश्न :  मेरे दो माह के बच्चे गैस बनती है और पेट फूलता है? सचिन, इंदिरानगर
उत्तर : बच्चे की मां से कहें कि वह गरिष्ठ भोजन बिल्कुल न करें। मां को सतावर का चूर्ण दूध के साथ पिलाएं। इसके साथ जब बच्चा दूध पीए तो मां के स्तन में हींग लगा दें। दूध के साथ हींग पेट में जाएगी और बच्चे को गैस नहीं बनेगी।
प्रश्न : मुझे डायबिटीज व थाईराइड दोनों है। दवाएं चल रही हैं, क्या करूं कि इनसे शरीर को कम नुकसान हो? ममता मिश्रा, राजाजीपुरम व कंचन
उत्तर : आप अपने खाने की टाइमिंग में बदलाव कर लें। सुबह 11 बजे तक और शाम को साढ़े सात बजे तक भोजन कर लें। शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए अलसी को भूनकर खाएं। बीमारी का दुष्प्रभाव शरीर पर कम होगा, क्योंकि आपकी प्रतिरोधक क्षमता इससे बढ़ जाएगी।
प्रश्न : मुझे जुकाम बहुत रहता है, क्या करूं? अंगद सिंह, ऐशबाग
उत्तर : रात में सोते समय दूध में सोंठ व हल्दी मिलाकर पिए। समस्या दूर हो जाएगी।
प्रश्न : मुझे बार-बार जुकाम व कफ हो जाता है, क्या करूं? बसंत, गोमतीनगर
उत्तर : आपको यह समस्या बार-बार हो रही है तो आप आंवले का सेवन अधिक करें। इससे प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी। आंवले का रस निकालकर उसमें शहद मिलाकर सेवन करें। इसके अलावा आधा कप दूध, आधा कप पानी में सोंठ, अदरक, तुलसी, काली मिर्च व अजवायन उबालकर दो से तीन बार पिए।
प्रश्न : मुझे पेट में दर्द होता है, मिचली होती है और गैस बनती है? शशि श्रीवास्तव जानकीपुरम व आरपी रस्तोगी अलीगंज
उत्तर : आप अजवायन, मोटी सौंफ को भून लें और उसमें सेंधा नमक मिलाकर खाने के बाद एक चम्मच लें तो आराम मिलेगा।
प्रश्न : मेरी पांच साल की बेटी को सर्दी जुकाम बहुत होता है, क्या करूं? हरिशंकर तिवारी, गोसाईंगंज
उत्तर : बेटी को जायफल व छोटी पिपली घिसकर दूध के साथ चटा दें। रात में सोते समय हल्दी व सोंठ का दूध पिलाएं।
प्रश्न : मुझे सीने में जलन बहुत होती है, एसिडिटी की समस्या बनी रहती है? कृष्ण कुमार मलिहाबाद व उदय प्रताप त्रिपाठी डालीगंज
उत्तर : आप मूलैठी को चूसे इससे आपकी एसिडिटी की समस्या का निदान हो जाएगा। पेट साफ होने के लिए हरड़, बहेड़ा व आंवला मिलाकर त्रिफला चूर्ण बना लें और इसका सेवन करें।
प्रश्न : मेरी कमर में बहुत दर्द रहता है, क्या करूं? संदीप कुमार कैंट
उत्तर : आप मेथी, अजवायन, चमसूर व कलौंजी (मंगरैल) को मिलाकर उसका चूर्ण बना लें। एक-एक चम्मच सुबह शाम लें। इसके अलावा कमर में सरसों के तेल में अजवायन मिलाकर लगाएं।
प्रश्न : मेरे शरीर में खुजली होती है और त्वचा में जलन सी महसूस होती है, क्या करूं? किशन लाल, गोमतीनगर
उत्तर : आप नारियल के तेल में कपूर मिलाकर लगाएं। दिन में सरसों का तेल शरीर में मालिश करें और शरीर को धूप दिखाएं।
प्रश्न : मैं हृदय रोगी हूं, क्या च्यवनप्राश का सेवन कर सकता हूं? त्रिभुवन सिंह जानकीपुरम
उत्तर : जी हां आप च्यवनप्राश का सेवन कर सकते हैं।
प्रश्न : मुझे अस्थमा है, सर्दी-जुकाम से कैसे बचें? गिरीश प्रताप सिंह, मोहनलालगंज
उत्तर : आप दही व मूली जैसी ठंडी चीजों का सेवन न करें। तुलसी, अदरक, सोंठ व काली मिर्च में गुड़ डालकर उबाल लें। इसका काढ़ा पिए तो दिक्कत नहीं होगी। प्राणायाम, कपालभाति व अनुलोम विलोम भी करें।
प्रश्न : मुझे बार-बार पेशाब लगती है और पेट में गैस बनती है, क्या करूं? पूजा सक्सेना जानकीपुरम
उत्तर : आप तिल के लड्डू खाएं या फिर तिल को भूनकर भी खा सकते हैं। दिन भर में दो बार खाएं तो पेशाब कम लगेगी। वहीं गैस की समस्या से निजात पाने के लिए आप तिल में अजवायन व सेंधा नमक मिलाकर आधा चम्मच लें।
प्रश्न : मुझे सर्दी-जुकाम बहुत होता है, क्या करूं, मोहम्मद आदिल कल्याणपुर
उत्तर: आप दालचीनी ,तेजपत्ता व छोटी इलायची को मिलाकर उसका चूर्ण बना लें और शहद के साथ सेवन करें। दिक्कत नहीं होगी।

आठ चीजों को मिलाकर बनाएं चूर्ण, पेट होगा साफ
पेट साफ न होने और कब्ज होने की स्थिति में आप हींग, सोंठ, काली मिर्च, सफेद जीरा, स्याह जीरा, पिपली, सेंधा नमक व काला नमक पीस लें और एक चम्मच चूर्ण रात में लें। पेट साफ रहेगा। इसके अलावा हरड़, बहेड़ा व आंवला को मिलाकर चूर्ण बना लें और गुनगुने पानी के साथ रात में लें। पेट साफ होगा व कब्ज नहीं रहेगा।

कमर में दर्द हो तो अजवायन, मेथी व कलौंजी का चूर्ण लें
अगर आपको कमर में दर्द हो रहा है तो आप मेंथी, अजवायन, चमसूर व कलौंजी (मगरैल) को मिलाकर चूर्ण बना लें और सुबह-शाम एक-एक चम्मच लें। वहीं कमर में अजवायन व सरसों का तेल लगाएं। जरूर आराम मिलेगा।

खुजली होने पर नारियल के तेल में कपूर मिलाकर लगाएं
सर्दियों में रूखी त्वचा में खुजली होती है। कई बार खुजलाते-खुजलाते त्वचा लाल हो जाती है। ऐसे में नारियल के तेल में कपूर मिलाकर लगाएं। वहीं दिन में शरीर पर सरसों का तेल लगाएं और धूप दिखाएं।

इन बातों का रखें ख्याल

  • हर रोज 10 से 12 तुलसी की पत्ती व एक काली मिर्च खाएं, आपके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी।
  • अरदक व आंवले की चटनी भी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाती है
  • बच्चों को सर्दी से बचाने के लिए जायफल व छोटी पिपली घिसकर दूध के साथ चटा दें।
  • काफी में थोड़ा सा जायफल मिलाकर पिए, स्वाद के साथ सेहत के लिए भी यह मुफीद है
  • आधा कप दूध, आधा कप पानी में हल्दी, अजवायन, तुलसी, अदरक व काली मिर्च की चाय बनाकर पिए।
  • अगर आपको डायबिटीज व थाईराइड है तो अलसी भूनकर खाएं। इसमें ओमेगा थ्री होता है जो आपकी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ा देगा। इन बीमारियों का शरीर पर दुष्प्रभाव कम होगा।
  • आंवले का सेवन करें इससे प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी। आंवले का रस निकालकर उसे शहद के साथ लें।
  • ठंड के दिनों में अगर शरीर में खुजली हो रही है तो नारियल के तेल में कपूर डालकर मालिश करें। वहीं दिन में धूप में बैठकर शरीर में सरसों के तेल से मालिश करें।
  • मुंह में छाले निकल आते हैं तो अमरूद की पत्ती खाएं। यही नहीं आप पानी में अमरूद की पत्ती उबाल लें फिर उसमें फिटकरी मिलाकर उस पानी से गरारा करें।
  • एसिडिटी होने पर मुलैठी चूसें इससे समस्या दूर हो जाएगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021