लखनऊ [राजीव बाजपेयी]। 25 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राजधानी में प्रस्तावित कार्यक्रम ने प्रशासनिक तंत्र में हलचल मचा दी है। पीएम के आने से पहले प्रशासन के सामने कई मोचरे पर चुनौती है। शहर में अमन चैन कायम करने के साथ युवा महोत्सव व डिफेंस एक्सपो जैसे मेगा इवेंट की तैयारियों में भी तेजी भरनी होगी।

लोकभवन में पूर्व प्रधानमंत्री व भारत रत्न स्व. अटल बिहारी वाजपेयी की मूर्ति के अनावरण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम को पीएमओ ने लगभग हरी झंडी दिखा दी है। प्रशासन को प्रधानमंत्री का प्रस्तावित कार्यक्रम भी मिल गया है, जिसके बाद से पूरा प्रशासनिक अमला प्रधानमंत्री के कार्यक्रम और शहर में कानून-व्यवस्था को लेकर सक्रिय है। गुरुवार को फैली ¨हसा के बाद से पूरा प्रशासनिक अमला कानून-व्यवस्था संभालने में ही जुटा है जिससे 12 जनवरी से होने वाले युवा महोत्सव और पांच फरवरी से प्रस्तावित डिफेंस एक्सपो की तैयारियां भी प्रभावित हो रही हैं। इनके अलावा 17 जनवरी से लखनऊ महोत्सव और साथ ही यूपी दिवस का आयोजन बड़ा आयोजन भी होना है। युवा महोत्सव और डिफेंस एक्सपो दोनो ही भारत सरकार की प्राथमिकता में हैं और रोजाना वहां से इसकी निगरानी हो रही है। मंगलवार को ही भारत सरकार के युवा मंत्रलय के संयुक्त सचिव असित सिंह ने दौरा कर तैयारियां और तेज करने के निर्देश दिए थे। डिफेंस एक्सपो की तैयारियों की नियमित समीक्षा रक्षा मंत्रलय द्वारा की जा रही है। ऐस में तैयारियों में एक-एक दिन काफी अहम है। उपद्रव के चलते कई अहम बैठकें आगे बढ़ा दी गयी हैं। पुराने शहर में हालात भले ही फिलहाल काबू में हैं लेकिन अफवाहों का दौर जारी है ऐसे में पीएम एक साथ कई मोर्चो पर अग्निपरीक्षा होगी। अपर जिलाधिकारी का कहना है कि शहर में कानून-व्यवस्था पूरी तरह नियंत्रण में है। युवा महोत्सव और डिफेंस एक्सपो की तैयारियां भी समय पर पूरी हो जाएंगी।

25 दिसंबर को लखनऊ आ सकते हैं प्रधानमंत्री, कानून-व्यवस्था कायम रखने की बड़ी चुनौती

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 25 दिसंबर के प्रस्तावित कार्यक्रम को देखते हुए पुलिस-प्रशासन ने तैयारियां तेज कर दी है। उनके हेलीकॉप्टर उतारने से कार्यक्रम स्थल तक जाने के रूट का निरीक्षण कर सुरक्षा, पार्किग और अन्य व्यवस्थाओं पर मंथन शुरू कर दिया है। पुलिस-प्रशासन लामार्ट हेलीपैड पर प्रधानमंत्री का हेलीकॉप्टर उतारने और पार्क रोड या राजभवन मार्ग से कार्यक्रम स्थल तक जाएंगे। रविवार को एसपीजी के आने पर कार्यक्रम स्थल, संभावित हेलीपैड व रूट का निरीक्षण करने के बाद अंतिम मुहर लगेगी।

25 दिसंबर को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर लोक भवन में उनकी प्रतिमा का अनावरण व अटल बिहारी चिकित्सा विश्वविद्यालय के शिलान्यास के लिए प्रधानमंत्री का कार्यक्रम दोपहर एक से दो बजे के बीच प्रस्तावित है। वह कार्यक्रम में करीब एक घंटे शिरकत करेंगे। इसको लेकर शनिवार दोपहर दो बजे के करीब एडीजी एसएन साबत, आइजी एसके भगत, एसपी यातायात पूर्णेदु सिंह, एसपी प्रोटोकाल देवेश शर्मा ने प्रशासनिक व पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों संग लामार्ट स्थित हेलीपैड का निरीक्षण किया। इसके साथ उनके कार्यक्रम स्थल (लोकभवन) जाने तक के रूट, वैकल्पिक रूट व हेलीपैड (सेना का) पर चर्चा की। वहीं कार्यक्रम स्थल के आसपास की सुरक्षा व्यवस्था के साथ पार्किग व यातायात को लेकर प्लान बनाया। प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर खुफिया के साथ स्थानीय पुलिस को भी अलर्ट कर दिया गया है। हेलीपैड, रूट व आने-जाने वालों की सूची को एसपीजी के निरीक्षण व अधिकारिक मुहर लगने के बाद ही तय माना जाएगा। प्रधानमंत्री के अमौसी से कार्यक्रम स्थल तक आने वाले सड़क मार्ग पर भी सुरक्षा पर चर्चा हुई।

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस