बाराबंकी, जागरण संवाददाता। रामसनेहीघाट में मंगलवार की देर रात हुए सड़क हादसे पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित राज्य सरकार के मंत्री व विभिन्न नेताओं ने गहरा दु:ख जताया है। प्रधानमंत्री ने बुधवार सुबह मुख्यमंत्री से बातकर घायलों के इलाज की उचित व्यवस्था करने और उन्हें घर पहुंचाने की व्यवस्था कराने का निर्देश दिया है। उधर, पीएम रिलीफ फंड से मृतकों के परिवारजन को दो लाख और घायलों को पचास हजार की मदद की घोषणा की गई है। 

ट्वीट कर जताया दु:खः राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार की सुबह 09 बजकर 41 मिनट पर ट्वीट कर शोक जताया है। उन्होंने लिखा है कि बाराबंकी, उत्तर प्रदेश में हुए सड़क हादसे में अनेक लोगों की असमय मृत्यु की खबर से अत्यंत पीड़ा हुई है। दुःख की इस घड़ी में, शोकग्रस्त परिवारों के प्रति मैं गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुबह 09 बजकर सात मिनट पर ट्वीट कर हादसे पर दु:ख जताया है। इसमें उन्होंने लिखा है कि यूपी के बाराबंकी में हुए सड़क हादसे की खबर से बहुत दुखी हूं। शोकाकुल परिवारों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं। अभी सीएम योगी जी से भी बात हुई है। सभी घायल साथियों के उचित उपचार की व्यवस्था की जा रही है। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद बाराबंकी के थाना रामसनेहीघाट क्षेत्र हुई में एक सड़क दुर्घटना में लोगों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने मृतकों के शोक संतृप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने इस हादसे में घायल लोगों का समुचित उपचार कराने तथा प्रभावित लोगों को हर संभव मदद और राहत प्रदान करने के निर्देश दिए हैं। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी हादसे पर शोक जताते हुए संवेदना व्यक्त की है।

केजीएमयू भेजे गए मंत्रीः मुख्यमंत्री ने मंत्री जय प्रताप सिंह जी, आशुतोष टंडन और डा. महेंद्र सिंह को किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय जाकर हादसे के पीड़ितों को बेहतर उपचार की व्यवस्था कराने के निर्देश दिए हैं। इस पर मंत्रीगण केजीएमयू पहुंच रहे हैं। 

विधायक और डीएम जाना हालः बाराबंकी दरियाबाद विधायक सतीश चंद्र शर्मा, बैजनाथ रावत, भाजपा जिलाध्यक्ष अवधेश श्रीवास्तव व जिलाधिकारी डा. आदर्श सिंह ने बुधवार सुबह रामसनेहीघाट में ठहराए गए यात्रियों का हाल जाना। साथ ही उनके भोजन आदि की व्यवस्था कराई। एआरटीओ ने बस की व्यवस्था कराकर उन्हें गंतव्य की ओर रवाना कर दिया है।

यह भी पढ़ें: Barabanki Bus Accident: पांच थानों की पुलिस ने किया पंचनामा, दस डाक्टरों ने पीएम; शव बिहार भेजने की तैयारी

 

Edited By: Vikas Mishra