मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लखनऊ(जेएनएन)। स्कूल और कॉलेजों के बाहर शोहदों की मुस्तैदी की खबर दैनिक जागरण में प्रकाशित होने के बाद मंगलवार को शक्ति मोबाइल सक्रिय नजर आईं। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने दैनिक जागरण की खबर का संज्ञान लेते हुए शक्ति मोबाइल का विस्तार करने का निर्णय लिया है। एसएसपी का कहना है कि शक्ति मोबाइल की संख्या बढ़ाकर शोहदों पर नकेल कसी जाएंगी। स्कूल और कॉलेज के बाहर महिला सिपाहियों की सादे कपड़ों में ड्यूटी लगाई जाएगी। अगर कोई युवक स्कूल अथवा कॉलेज के बाहर खड़ा होकर छात्रओं पर फब्तियां कसता पाया जाएगा तो उसपर एफआइआर दर्ज होगी।

एसएसपी ने बताया कि एंटी रोमियो स्क्वायड को उपलब्ध कराई गई गाड़ी का नाम शक्ति मोबाइल रखने के साथ ही उन्होंने इसका पुर्नगठन किया था। इसके तहत शक्ति मोबाइल के प्रभारी तैनात कर उनके साथ छह अन्य पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई थी और उन्हें एक वीडियो कैमरा उपलब्ध कराया गया था। सभी प्रभारियों को उनके थाना क्षेत्र में आने वाले स्कूल, कॉलेजों के बाहर खड़े होने वाले अराजक तत्वों को चिंहित कर उनके खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। एसएसपी के मुताबिक, राजधानी में कॉलेजों की संख्या ज्यादा है। इसके हिसाब से वाहनों की उपलब्धता कम है। लॉ एंड ऑर्डर में भी कई बार शक्ति मोबाइल को लगाना पड़ता है।

अपने इंतजाम पर है बेटियों की सुरक्षा

मंगलवार को दैनिक जागरण की 'ऑन द स्पॉट टीमÓ द्वारा शहर के महिला कॉलेजों के बाहर पुलिस के दावों की हकीकत को सामने ला कर रख दिया। कॉलेजों के बाहर बेवजह खड़े रहने वालों से निपटने के लिए पुलिस निष्क्रिय साबित हुई। शायद यही कारण है कि कॉलेजों को अपने इंतजाम कर इस समस्या से लडऩा पड़ रहा है। विभिन्न महिला कॉलेजों ने अपनी सुरक्षा व्यवस्था पर ही बेटियों की सुरक्षा किए जाने का दावा किया।

नेशनल पीजी कॉलेज की प्राचार्या प्रो. नीरजा सिंह बोलीं कि कॉलेज के दोनों गेट पर हर वक्त गार्ड तैनात रहते हैं। छुट्टी के दौरान मुख्य गेट पर दो गार्ड मुस्तैद रहते हैं। इसके अलावा प्रॉक्टोरियल बोर्ड के सदस्य भी कॉलेज से करीब 50 मीटर तक छात्रओं की निगरानी के लिए राउंड करते हैं। रजत डिग्री कॉलेज की निदेशक पुष्पलता सिंह ने बताया कि हमने अपनी ओर से गेट पर सिक्योरिटी स्टाफ लगाए हैं। परिसर के पास तक वह छात्रओं की हिफाजत पर नजर रखते हैं।

अवध गल्र्स पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री कॉलेज की प्राचार्या डॉ. उपमा चतुर्वेदी ने कहा कि गल्र्स कॉलेज की सुरक्षा भी हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं। हमने मेन गेट पर दो गार्ड और सीसी कैमरे भी लगा रखे हैं।

क्राइस्ट चर्च कॉलेज के प्रिंसिपल राकेश छेत्री बोले कि छुट्टी के दौरान अभिभावक कैंपस के अंदर से छात्रओं को ले जाते हैं। वहीं छुट्टी के आधे घंटे तक कॉलेज गेट पर स्टाफ तैनात रहते हैं। 1आइटी कॉलेज की प्राचार्या डॉ विनीता प्रकाश ने कहा कि जबकि मेनगेट पर कैमरे लगे हैं। गार्ड ओर चौकीदार भी हैं। छुट्टी के दौरान गार्ड के अलावा टीचर्स भी गेट पर राउंड करते हैं, कोशिश रहती है कि गेट के आसपास किसी को खड़े न रहने दिया जाए।

 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप