लखनऊ, राज्य ब्यूरो। योगी आद‍ित्‍यनाथ सरकार कानून-व्यवस्था के मोर्चे पर पुलिस को और चुस्त-दुरुस्त करने के लिए शासन प्रशिक्षण पर भी विशेष ध्यान दे रही है। वर्तमान शासनकाल में डेढ़ लाख से अधिक पुलिसकर्मियों की भर्ती कर उनका प्रशिक्षण रिकार्ड समय में पूरा कराया गया है।

पुलिस प्रशिक्षण की क्षमता व गुणवत्ता बढ़ाने का प्रयास करेगा गृह विभाग

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए पुलिस प्रशिक्षण की क्षमता को और बढ़ाए जाने का निर्देश दिया है। कहा है कि पुलिसकर्मी नवीनतम व गुणवत्तापरक जानकारी से प्रशिक्षित हों और लोगों के प्रति उनका व्यवहार और अधिक सौम्य व सहयोगी रहे। इसके लिए गृह विभाग पुलिस प्रशिक्षण की क्षमता व गुणवत्ता को और बढ़ाने की दिशा में प्रयास कर रहा है।

प्रदेश में नौ हजार से अधिक प्रशिक्षु उपनिरीक्षकों के प्रशिक्षण जारी

प्रमुख सचिव, गृह संजय प्रसाद ने डीजी प्रशिक्षण को पुलिस प्रशिक्षण संस्थानों में ट्रेनिंग क्षमता में वृद्धि किए जाने का प्रस्ताव जल्द उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। संजय प्रसाद ने कहा कि पुलिस की बेहतर छवि के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रमों को भी वर्तमान आवश्यकताओं के अनुरूप आधुनिक जानकारियों को शामिल कर अधिक व्यावहारिक बनाए जाने पर विशेष बल दिया गया है। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में मुख्य आरक्षी से उपनिरीक्षक के पद पर प्रोन्नति प्राप्त 32 हजार से अधिक प्रशिक्षु भी प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके हैं। इसके अलावा मुख्य आरक्षी से प्रोन्नति पाने वाले नौ हजार से अधिक प्रशिक्षु उपनिरीक्षकों के प्रशिक्षण की प्रक्रिया चल रही है।

नौ पुलिस प्रशिक्षण संस्थानों में दोगुणा की गई प्रशिक्षण क्षमता

प्रदेश में पूर्व से स्थापित नौ पुलिस प्रशिक्षण संस्थानों की प्रशिक्षण क्षमता को दोगुणा किया गया है। पूर्व में इन प्रशिक्षण संस्थानों में 5650 प्रशिक्षुओं के प्रशिक्षित होने की क्षमता थी, जिसे बढ़ाकर 11500 किया गया है। इस क्षमता को और बढ़ाया जाएगा। दो नए प्रशिक्षण केंद्र सुलतानपुर व जालौन में स्थापित किए गए हैं। जिनके बाद अब अब पुलिस प्रशिक्षण संस्थानों की कुल संख्या 11 हो गई है।

अत्याधुनिक संसाधनों से लैस क‍िए जा रहे पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय

पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय मेरठ का नया नाम परिवर्तित कर धनसिंह गुर्जर पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय किया गया है तथा इसे अत्याधुनिक संसाधनों से लैस किया जा रहा है। यहां आधुनिक तकनीक के साथ प्रशिक्षण की बेहतर व्यवस्था विकसित की जा रही है। उन्होंने बताया कि पुलिस प्रशिक्षण संस्थानों के लिए पहले से सृजित 924 पदों का विस्तार करते हुए 1227 अतिरिक्त पदों का सृजन किया गया है।

Edited By: Prabhapunj Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट