लखीमपुर, जेएनएन। टेरर फंडिंग के मामले में दो दिन पहले बरेली में गिरफ्तार किए गए आरोपित फहीम व सिराजुद्दीन सात दिन एटीएस की कस्टडी रिमांड में रहेंगे। इस दौरान मामले की विवेचना कर रही एटीएस आरोपितों से आतंकी संगठनों को की जा रही फंडिंग, बैंकों के खातों को हैक करने व अफ्रीकन नाइजीरियन माइकल की मदद में शामिल होने के बारे में जानकारी हासिल करेगी।

उनके देश-विदेश के नेटवर्क के बारे में जानकारी जुटाएगी। उधर, टेरर फंडिंग का आरोपी सदाकत शनिवार को हड़ताल के चलते कोर्ट में सरेंडर नहीं कर सका। सदाकत की गिरफ्तारी के लिए सुबह से ही कचहरी परिसर में एटीएस व पुलिस की टीम लगी हुई थी लेकिन, सदाकत को पहचान नहीं सके और सदाकत अपने अधिवक्ता के माध्यम से मामले में सुनवाई की 22 तारीख नियत करा ली। सदाकत के सरेंडर अर्जी पर 22 अक्टूबर को सुनवाई की जाएगी।

सीजेएम विकास श्रीवास्तव ने 19 अक्टूबर को शाम चार बजे से 26 अक्टूबर शाम चार बजे तक सात दिनों की कस्टडी रिमांड स्वीकृत की है। बीते गुरुवार को देर रात पलिया बस स्टैंड से सीओ राकेश नायक व इंस्पेक्टर दीपक शुक्ल और क्राइम ब्रांच की टीम ने खमरिया निवासी उमेद अली, तिकुनिया निवासी संजय अग्रवाल व ऐराज अली एवं बरेली निवासी समीर सलमानी को गिरफ्तार किया था। इनके पास से नेपाली व भारतीय मुद्रा बरामद हुई थी। 

पूछताछ में मामला आतंकियों को फंडिंग से जुड़ा पाया गया। गिरफ्तार किए गए आरोपितों से पूछताछ के दौरान टेरर फंडिंग से जुड़े कई नाम उजागर हुए थे। इसके बाद इस गुरुवार को टेरर फंडिंग से जुड़े बरेली निवासी फहीम व सिराजुद्दीन को इज्जतनगर थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया था। शुक्रवार को सीजेएम कोर्ट में दोनों आरोपितों को पेश किया गया था। दोनों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया था।

शुक्रवार को ही एटीएस के सीओ शैलेंद्र राठौर ने दोनों आरोपितों के अफ्रीकन नाइजीरियन माइकल से संबंधों की जानकारी हासिल करने व बैंकों से अरबों रुपये हैक करने वाले गिरोह व आतंकवादियों को  फंडिंग किए जाने की तहकीकात करने के लिए दोनों आरोपितों की सात दिनों की कस्टडी रिमांड की याचना अदालत से की थी। शनिवार को सुनवाई के बाद सी जेएम विकास श्रीवास्तव ने फहीम व सिराजुदीन से पूछताछ के लिए सात दिनों की कस्टडी रिमांड मंजूर कर दी। अभियोजन अधिकारी घनश्याम गुप्ता ने बताया कि दोनों आरोपित सात दिनों की एटीएस कस्टडी रिमांड में रहेंगे।  

यह भी पढ़ें: टेरर फंडिंग के मुख्‍य आरोपी मुमताज ने ATS को दिया चकमा, ऐसे पहुंचा CJM कोर्ट

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप