लखीमपुर, संवादसूत्र। लखीमपुर खीरी हिंसा में मारे गए भारतीय जनता पार्टी के तीन कार्यकर्ताओं के हमलावरों की ताजा तस्वीरें जारी की गई हैं। इन तस्वीरों में आरोपित भाजपा कार्यकर्ताओं को घेर घेर कर मार रहे हैं। तस्वीरों में हमलावर नजर आ रहे लोगों की पहचान और इनके बारे में सूचना देने वाले को एसआईटी ने पुरस्कृत करने की घोषणा की है। साथ ही उनका नंबर और नाम भी गोपनीय रखा जाएगा, इस बारे में कई मोबाइल नंबर भी जारी किए गए। सारी सक्रियता इसलिए है क्योंकि 15 नवंबर को घटना के मुख्य आरोपी आशीष मिश्र की जमानत पर निर्णायक बहस होनी है।

लखीमपुर हिंसा में मारे गए भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं की हत्या के लिए जिम्मेदार आरोपितों की धरपकड़ तेज कर दी गई है। इसके लिए एसआईटी ने कुछ और तस्वीरें जारी की हैं। यह वह तस्वीर हैं, जो विशेषज्ञों की लैब में प्रमाणित हो चुकी है कि यह उसी घटना से जुड़ी हुई तस्वीरें हैं। इन तस्वीरों में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं पर लाठी-डंडों से खुलेआम हमला किया जा रहा है।

एसआईटी ने तस्वीरें सार्वजनिक करते हुए आम जनता से अपील की है कि वह इनको पहचाने और अगर इनके बारे में कोई भी सूचना हो तो वह पुलिस के नंबरों पर जारी करें। एसआईटी ने इसके लिए एक दो नहीं आधा दर्जन के करीब मोबाइल नंबर जारी किए हैं। जिन पर इस घटना से जुड़ी कोई भी तस्वीर सूचना या फिर वीडियो को साझा किया जा सकता है। एसआईटी ने अपील की है कि जो भी इस मामले से जुड़ी कोई सूचना देगा उसका नाम गोपनीय रखते हुए उसे पुरस्कृत किया जाएगा।

गौरतलब है लखीमपुर खीरी हिंसा में अलग-अलग दो मुकदमे दर्ज किए गए थे। जिसमें एक मुकदमे में केंद्रीय मंत्री का पुत्र आशीष मिश्रा मुख्य आरोपी बनाया गया है, जबकि दूसरे मुकदमे में सभी आरोपी अज्ञात हैं । अब तक इस मामले में दोनों मुकदमों के 19 आरोपितों की गिरफ्तारी हो चुकी है। जिसमें से प्रमुख आरोपितों की जमानत पर सुनवाई 15 नवंबर को जिला जज मुकेश मिश्र की अदालत में होगी।

Edited By: Anurag Gupta